Published On : Tue, Jul 17th, 2018

आरक्षण विरोधी पार्टी की मांग जातिगत आरक्षण को किया जाए समाप्त

नागपुर: शहर के कड़बी चौक में आरक्षण विरोधी पार्टी की मीटिंग संपन्न हुई. जिसमे पार्टी के महाराष्ट्र के प्रभारी इंद्रजीत किशोरीलाल मलिक ने बताया की पार्टी भारतीय निर्वाचन आयोग में 28 अक्टूबर 2013 को रजिस्टर्ड हो चुकी है और पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में भी अपने प्रतिनिधियों को खड़ा किया था और 2017 में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भी अपने प्रतिनिधियों को टिकट दिया था. अगले वर्ष होनेवाले लोकसभा चुनाव में भी पार्टी अपने उमेदवार खड़े करना चाहती है.

जिसके लिए पार्टी की सदयस्ता शुरू हो चुकी है. मलिक ने इस दौरान आरक्षण पर बात करते हुए बताया कि जातिगत आरक्षण के कारण योग्य उमेदवारो को कॉलेज में एडमिशन व उचित नौकरी नहीं मिल पाती. जिसके कारण आरक्षण बंद किया जाए . पार्टी का मुख्य मुद्दा यह है कि आर्थिक आधार पर और योग्यता के आधार पर स्कुल कॉलेज में एडमिशन और नौकरी दी जानी चाहिए, तभी देश का विकास तेजी से होगा.

उन्होंने कहा कि इससे आरक्षित वेग के भाई बहन भी प्रतियोगिता के लिए तैयार होंगे. क्योकि सरकारी नौकरी बहोत ही कम है और आरक्षित वर्ग प्राइवेट नौकरी में पिछड़ जाते है.

इसलिए पार्टी का निवेदन है की जातिगत आरक्षण को समाप्त कर आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाए. इस मुद्दे को लेकर पार्टी पुरे देश में अपने उमेदवार चुनावों में खड़ा करेगी.