| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Oct 20th, 2018

    यूरोपियन यूनियन और इसराइल के सिलाइस प्रोजेक्ट के प्रतिनिधियों ने पि.आय ई. टी को भेट दी

    नागपुर: लोकमान्य तिलक जनकल्याण शिक्षण संस्था द्वारा संचालित प्रियदर्शिनी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में हाल ही में यूरोपियन यूनियन और इसराइल के सोशल इनोवेशन अमोंगेस्ट लोकल इंडियन एंड इसरायली कम्युनिटीज एंड ग्रेजुएट एंटरप्रेनर के प्रतिनिधियों ने भेट दी इसमें मुख्य अतिथि गौटिंगेन जर्मनी डॉ. कार्लोस मचाडो,तेल हाय अकादमिक कॉलेज इजराइल श्रीमती. गीली नवॉन, ओरणीम अकादमिक कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन श्रीमती निनित लॉरेंस, ईदुलब मुंबई श्री. प्रतिक गाँधी, श्री. दमियन हैंनेत आदि उपस्थ्ति थे इस सिलाइस प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य यह है की सलाहकार और सामाजिक अभिनव विचारों को बढ़ावा देना और यूरोपीय संघ (ईयू), इज़राइल और भारत में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनका आदान-प्रदान करना इसके लिए पि.आय ई. टी के प्राध्यापकों ने एडिनबर्घ , लिस्बन, क्रोएशिया, जर्मनी, इजराइल और भुबनेश्वर में ट्रैंनिंग लिया है.

    इस सिलाइस प्रोजेक्ट के अंतर्गत इंस्टिट्यूट के विद्यार्थियों ने कुछ सोशल प्रोजेक्ट दिखाए जिसमे में की अपूर्वा नेटी और अक्षिता चांडक द्वारा क्लॉथ बैग मेकिंग प्रोजेक्ट , इशिता रोहणकर , श्रुति बघेले,मोहमद्द हुज़ैफ़ा, प्रिय जाधव द्वारा मॉस्क्वीटो रेपेलेंट प्रोजेक्ट ,राहुल सातपुते द्वारा अमृतपानी बायोफ़र्टिलाइज़र प्रोजेक्ट, अखिल मांडलिक द्वारा मल्टीपर्पज़ एग्रीकल्चरल मशीन आदि प्रोजेक्ट को अतिथियों ने भेट दी और प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी ली

    इस भेट को सम्बोदित करते हुए इस सिलाइस प्रोजेक्ट मैनेजर और प्राचार्य डॉ. विवेक नानोटी इन्होने बताया की संस्थान द्वारा किए गए विभिन्न गतिविधियों, परियोजनाओं और कार्यशालाओं के बारे में प्रतिनिधियों को बताया। उन्होंने अपनी प्रस्तुति में उल्लेख किया कि पीआईईटी भविष्य के सामाजिक उद्यमियों के लिए सबसे अधिक मांग केंद्र बन गया है और न केवल अपने छात्रों के लिए बल्कि अन्य संस्थानों के छात्रों के लिए भी शुरू हुआ है। सिलाइस टीचर और उप- प्राचार्य डॉ. गजेंद्र आसुटकर इन्होने कहा की पीआईईटी के सिन्नोलब को भव्य प्रतिसाद न केवल नागपुर से बल्कि आसपास के क्षेत्रों से भी मिल रहा है । सिन्नोलैब मैनेजर डॉ. सदानंद देशपांडे, डॉ. राकेश हिमते इन्होने लैब के अंतर्गत आधुनिक उपकरण जैसे की इंटरएक्टिव बोर्ड,3 डी प्रिंटर द्वारा विद्यार्थी अपना विचार रखने में मदद कर सकते हैं. सिलाइस टीचर डॉ.

    सुमिता राव इन्होने आईडिया कांटेस्ट के बारे में जानकारी दी इस कांटेस्ट में १५० से ज्यादा विद्यार्थियों ने अपनी आयडिया को पेश किया गया था उसमे से ५ आईडिया को सिलाइस टीम ने चुनकर उन्हें मार्गदर्शन कर रही है सिलाइस टीचर डॉ. रोजीना राणा इन्होने इनोवेशन और सोशल एंटरप्रेनरशिप पर कार्यशालाओं के बारे में प्रतिनिधियों को बताया कि संस्थान नियमित आधार पर आयोजन कर रहा है। ये कार्यशालाएं न केवल इच्छुक छात्रों के बीच उद्यमशीलता की भावना पैदा करती हैं बल्कि उन्हें सामाजिक उद्यमिता के विभिन्न पहलुओं के बारे में भी प्रशिक्षित करती हैं
    डॉ. भूमिका अग्रवाल और प्रो. हिमांशु तायवाड़े इन्होने सिलाइस प्रतिनिधियों एस्कॉर्ट कर के बायोटेक्नोलॉजी द्वारा तैयार किये गए हर्बल और बॉटनिकल गार्डन में इनके हस्ते वृक्षारोपण किया गया और वेस्ट मैनेजमेंट प्रोजेक्ट को भी भेट दी पीआईईटी के नॉलेज सेण्टर, और बिसनेस इनक्यूबेटर सेण्टर का भी दौरा किया गया और टीम ने प्रशंसा की। टीम ने सिन्नोलैब के लाभार्थियों से बातचीत की और परियोजना के प्रसार के लिए प्रियदर्शिनी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के योगदान पर अपनी संतुष्टि व्यक्त की।

    उन्होंने आश्वासन दिया कि संस्थान में सामाजिक उद्यमियों को बनाने की क्षमता है और भविष्य में केंद्र और व्यापार ऊष्मायन केंद्र में यूरोपीय संघ से ऐसी अधिक परियोजनाएं प्राप्त करने के योग्य हैं.

    सिलाइस के सभी प्रतिनिधियों को अध्यक्ष डॉ. सतीश चतुर्वेदी, सचिव सौ. आभा चतुर्वेदी इनके हस्ते सम्मानित किया गया और
    यूरोपीय संघ की परियोजनाओं के साथ समझौता करने के लिए और उभरते उद्यमियों को अंतर्राष्ट्रीय मंच देने के लिए टीम पीआईईटी को अध्यक्ष डॉ. सतीश चतुर्वेदी, सचिव सौ. आभा चतुर्वेदी, संचालक श्री. दुष्यंत चतुर्वेदी, संचालक श्री अभिजीत देशमुख इन्होने बधाई दी
    इस भेट का सफल आयोजन डॉ. संजय जैन ,डॉ. आदिति पांडे,प्रो. मयूरी चांडक, डॉ. मंजू सोनी, डॉ. ऐश्वर्या कोपुलवार, डॉ. सवर्दा मोटे ,डॉ. अर्चना पोतुरंवार,प्रो. केतन बोधे, प्रो. पराग नाइक इन्होने किया था

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145