Published On : Mon, Feb 18th, 2019

पुलिस सुरक्षा के साथ एसएनडीएल का बकाया वसूली अभियान जारी

नागपुर: नागपुर शहर के कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां विद्युत उपभोक्ताओं ने लंबे समय से अपने बिजली बिलों का भुगतान नहीं किया है. ये उपभोक्ता अकसर या तो मिलने से बचते रहते हैं अथवा कभी वसूली पथक द्वारा बिजली आपूर्ति खंडित करने के लिए जाने पर विवाद खड़ा कर देते हैं। यह परिस्थिति संपूर्ण नागपुर में न होकर लंबे समय से जाने-पहचाने क्षेत्रों तक सीमित है।

मोमिनपुरा, ताजबाग, नारा, लष्करीबाग, शांति नगर, और पीली नदी से सटी बस्तियों आदि क्षेत्रों के रहवासियों में से लगभग 12 हज़ार उपभोक्ता ऐसे हैं जिन्होंने एक वर्ष से भी अधिक समय तक अपने बिलों का भुगतान नहीं किया है. ऐसे उपभोक्ताओं से एसएनडीएल को कुल रु. 33 करोड़ से भी अधिक राशि वसूलनी बाकी है. अकेले मोमिनपुरा की बात करें तो लगभग 1450 उपभोक्ताओं ने पिछले एक वर्ष से रु. 3 करोड़ से अधिक की बिल राशि का भुगतान नहीं किया है. एसएनडीएल के समक्ष ऐसे उपभोक्ता लंबे समय से एक प्रश्नचिह्न के समान बने हुए हैं क्योंकि यहां बगैर किसी संरक्षण के किसी भी प्रायवेट कंपनी के लिए काम करना मुश्किल है.

एसएनडीएल द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार हाल ही में प्रशासन में हुए कुछ सकारात्मक परिवर्तनों के कारण अब एसएनडीएल को पुलिस एवं प्रशासन का अच्छा सहयोग मिल रहा है. अतः स्थानीय पुलिस की मदद से एसएनडीएल ने कई स्थानों पर कार्रवाई करते हुए बड़े बकायादारों के कनेक्शन काटे हैं तथा वसूली संबंधी कार्रवाई की है.

ऐसी ही एक बड़ी कार्रवाई के अंतर्गत शहर के मोमिनपुरा क्षेत्र में शनिवार दिनांक 16 फरवरी 2019 को की गईं जिसमें पुलिस के सहयोग से एसएनडीएल के वसूली पथक ने 13 कनेक्शन (10 स्थाई और 3 अस्थाई रूप से) काटे जाने पर लगभग रु. 28 लाख बकाया थे.

प्रातः 11 बजे आरंभ हुई इस कार्रवाई के दौरान आरंभ में काफी भीड़ जमा हो गई थी जिसमें वसूली अधिकारियों से हाथापाई की गई, परंतु तहसील पुलिस थाने द्वारा प्रदत्त पुलिस बल ने तुरंत ही भीड़ पर काबू पा लिया और कार्रवाई पूरी की गई. पुलिस बल में शामिल पीएसआई जाधव ने कई स्थानों पर स्वयं बकायादारों को अपने बिलों का नियमित भुगतान करने की समझाइश दी.