Published On : Wed, Oct 7th, 2020

नागपुर और गोंदिया में निजी सहाय्यता प्राप्त स्कूलों में अवैध शिक्षक-शिक्षकेत्तर कर्मचारीयो की हुई भर्ती

बळीराजा पार्टी के विदर्भ महासचिव शेखर दंताळे ने की कार्रवाई की मांग

नागपुर– विदर्भ के गोंदिया और नागपुर जिलों में सन 2012 से 2019 तक के अनुदानित निजी प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में, शिक्षकों और शिक्षण कर्मचारियों की अवैध भर्ती हुई हैं और संबंधित शिक्षा विभाग से अनुमोदन प्राप्त किया गया है. शिक्षक पात्रता परीक्षा जैसे की (टीईटी) सरकार के निर्णय की पिछली नियुक्तियों को दिखाते हुए, शिक्षा विभाग के संबंधित अधिकारी के साथ मिली-भगत करके, लाखों रुपये का गबन करके उन्होंने व्यक्तिगत अनुमोदन प्राप्त किया गया है. उप-निदेशक, नागपुर डिवीजन, नागपुर और अध्यक्ष नागपुर मंडल बोर्ड, नागपुर का अधिग्रहण किया गया है. इसलिए सरकार को उनके वेतन का खर्च वहन करना पड़ रहा है.

नागपुर डिवीजन के आधार पर, गोंदिया और नागपुर जिलों में प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षकों की व्यक्तिगत मान्यता और स्कूल आईडी जारी किए गए हैं, यहआईडी किस तरह मिली है, इसकी जांच करें और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करे. ऐसी मांग बलिराजा पार्टी की ओर से की जा रही है. इसलिये बळीराजा पार्टी के विदर्भ महासचिव शेखर दंताळे ने महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार, शालेय शिक्षा एंव क्रिडा मंत्री वर्षा गायकवाड तथा शालेय शिक्षा एंव क्रिडा विभाग की अप्पर मुख्य सचिव वंदना कृष्णा को ईमेल व्दारा पत्र लिखकर जाँच करने की मांग की है.