Published On : Sat, Sep 30th, 2017

1956 के धम्म प्रवर्तन दिन की दुर्लभ तस्वीरें एक पर्चे में


नागपुर: 61वें धम्मचक्र प्रवर्तन दिन के अवसर पर डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर से जुड़ी कुछ यादें शहर से भी जुड़ी हैं. 14 अक्टूबर 1956 में बाबासाहेब ने बौद्ध धम्म की दीक्षा लेने का संकल्प लिया था. जिसके बाद लाखों की तादाद में लोग शहर के दीक्षाभूमि पहुंचे और बौद्ध धम्म की दीक्षा ली.

उस दौरान ”सामुदायिक धर्मान्तर ” के नाम से पर्चे भी छापे गए थे. उन दुर्लभ तस्वीरों की कॉपी सोशलमीडिया में खूब शेयर की जा रही है. जिसमें भारतीय बौधजन समिति के नागपुर शाखा के सचिव वा. मो. गोडबोले का भी नाम है. इसमें सभी लोगों से अपील की गई थी कि बौद्ध धम्म की दीक्षा ग्रहण करनेवाले लोग सफ़ेद वस्त्र धारण कर दीक्षाभूमि पहुंचें. कार्यक्रम 14 अक्टूबर रविवार को सन 1956 की सुबह 8 बजे शुरू हुआ था. जिसमें बाबासाहेब के साथ लाखों लोगों ने बौद्ध धम्म की दीक्षा ली थी.

इसके साथ ही महामानव डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के जीवन से जुड़ी कुछ तस्वीरें भी दी गई हैं. जिसमें दीक्षाभूमि में दीक्षा लेते समय की तस्वीरें, भाषण देते हुए, अपने परिवार के साथ, विभिन्न लोगों से मिलते हुए ,कार्यक्रमों में भाग लेते हुए, साथ ही उनके महापरिनिर्वाण की दुर्लभ तस्वीरें भी देखने मिलती है.