Published On : Sat, Dec 13th, 2014

घाटंजी : बलात्कारियों को 15 तक पीसीआर


घाटंजी (यवतमाल)।
अपने रिश्तेदार के यहां जानेवाले एक 45 वर्षीय महिला को घाटंजी बस स्टैंड के सामने से मारोती वैन में डालकर उसके साथ कानोबा टेकड़ी और यवतमाल के महिला अस्पताल में मुंह काला करनेवाले खापरी निवासी गोपाल दादाराव सुकटे (38) और यवतमाल के दारव्हा रोड़ निवासी अशोक साहबराव निल (32) को घटना के बाद गिरफ्तार किया था. उन्हें न्यायालय में पेश करने पर 15 दिसंबर तक पीसीआर दिया गया है.

जिस मारोती वैन से इस घटना को अंजाम दिया गया था उसका नंबर एम.एच.22/2881 है. घटना के बाद से रात में महिला यात्रियों की सुरक्षा नहीं रहने की बात की पोल खुल गई है. मुंबई के बाद महिला अत्याचार में यवतमाल दूसरे नंबर पर मुंबई के बाद महिला अत्याचारों के मामले में यवतमाल दूसरे नंबर आने की जानकारी पुलिस सूत्रों से मिली है. घाटंजी की घटना ने फिर एक बार महिला यात्रियों को शाम 8 बजे के बाद घर से निकलना ठिक नहीं है. यह बात बता दी है. जिससे महिलाओं में भय व्याप्त है.
court