Published On : Mon, Jun 26th, 2017

चार दिनों बाद इन्द्रदेव हुए मेहरबान

Advertisement
  • जमकर बरसे बादल मौसम हुआ ठंडा-ठंडा,कूल-कूल
  • कही-कही कुछ प्रतिशत किसानों पर दोबारा बुआई संकट आन पडा़ है


नागपुर:
निसर्ग की अॉख मिचौली व कम बारिश के कारण किसानों तथा नागरिकों में असमज की भूमिका का निर्माण हो रही थी कि इस मान्सून आयेगा कि नहीं मौसम विभाग द्वारा तथा जानकारों के मुताबिक इस साल समय पर मान्सून सक्रिय सहभाग लेकर अच्छी बारिश होने की बात कही जा रही थी. मगर अभी मृग नक्षत्र तथा रोहीनी नक्षत्र में समय अनुसार बारिश होने लगी जिससे सभी खुशहाली माहौल बन गया था जिस वजह किसानों अपने खेतों में काम पूरा कर लिया और उसके बाद बुआई प्रारम्भ कर दी थी.

लेकिन अचानक आसमान में बादल मंडराने लगे वहीं एका एक एकदम से गायब हो गए सूरज की रोशनी व उमस भरी गर्मी के मौसम के चलते किसानों तथा नागरिकों में बेचने निर्माण हो रही थी. वहीं जिन किसानों अपने खेत खलिहानों में बुआई कर दी मंगर मान्सून के मौसम में आँख मिचौली खेल के चलते उनपर अब दोबारा बुआई का संकट आन पडा़ अभी तिन चार दिनों उमस और गर्मी के मौसम चलते किसानों खेतों बारिश के नराधार होने बुआई किये मालों ने पानी के अभाव के कारण मुडी ही जमीन पर दाल दी. जिससे कुछ प्रतिशत किसानों बारिश के एकाएक नराधार होने उनके खेतों बुआई किये मालों पानी नहीं मिलने से बड़ा असर पड़ा है. वहीं उनपर दोबारा बुआई संकट आन पडा़ है.

मगर अभी चार दिनों बाद मान्सून जोरदार इन्ट्ररी लेकर आज सुबह बारा बजे से जो मौसम करवटें बदलीं की तेज आधी तूफान बादलों की गर्जना के साथ चमचमाती बिजली आवाज करते शाम 5 बजे तक बरसते रहें जिससे मानो सभी मौसम ठंडा ठंडा कूल कूल हो गया वहीं सभी और खुशी लहर दौड़ गई. मान्सून लेट ही सही परन्तु दमदार जोरदार इन्ट्ररी करने किसानों तथा नागरिकों राहत भरी साहस महसूस कि तथा भगवान से इस अच्छी बारिश होने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक बादलों गर्जना प्रारंभ था.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement