Published On : Thu, Mar 22nd, 2018

पुणे की ट्रेवल्स टाइम ने हड़पी बसकर्मियों की ‘पीएफ निधि’


नागपुर: मनपा परिवहन विभाग की ओर से आपली बस का संचालन किया जा रहा है. संचालन करने वाली पुणे की एक बस ऑपरेटर कम्पनी ट्रेवल्स टाइम पर अपने कर्मचारियों के भविष्य निर्वाह निधि की करोड़ों की धांधली करने का आरोप शिवसेना के कामगार संगठन ने लगाया है. इस मामले की गहन जांच कर परिवहन विभाग, ट्रेवल्स टाइम के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर भारतीय कामगार सेना के जिला संगठन बंडू तलवेकर के नेतृत्व में उमरेड मार्ग स्थित भविष्य निर्वाह निधि कार्यालय में ईपीएफ आयुक्त सहित कामगार आयुक्त व वित्त अधिकारी को निवेदन सौंपा गया. याद रहे कि सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाली निधि के लिए कर्मचारियों के वेतन से भविष्य निर्वाह निधि के रूप में कटौती किया जाते रहा.

आपली बस सेवा में कार्यरत ३२० कर्मी बस संचालन करने वाली ट्रेवल्स टाइम्स कंपनी से सम्बंधित है. इन कर्मियों के वेतन से १२% ईपीएफ कटौती कर इतनी ही राशि कंपनी की ओर से ईपीएफ खाते में जमा करवाना अनिवार्य है. लेकिन कंपनी द्वारा उक्त नियमों की अवहेलना की जा रही है. कर्मियों के बेसिक व डीए सहित अन्य अलाउंसेस मिलाकर २६ दिन के वेतन से ११३१ रुपए ईपीएफ के खाते में जमा करना अनिवार्य है. ट्रेवल्स टाइम कंपनी ने वेतन से कटौती तो की लेकिन पूरी रकम पीएफ खाते में जमा नहीं की. इसके बजाय मात्र १६८ रूपए प्रति कर्मी प्रति माह के हिसाब से ही जमा की है.
यहां तक कि कर्मियों को वेतन सह ईपीएफ की मासिक रसीद तक नहीं दी जाती है. सेना के अनुसार इस तरह प्रत्येक माह में प्रति कर्मी ९२६ रुपए पुणे की ट्रेवल्स टाइम ने हजम कर ली.

सेना के अनुसार ट्रेवल्स टाइम्स की इस गड़बड़ी से करोड़ों की राशि के गबन मामले पर अगले माह अप्रैल के पहले हफ्ते में ईपीएफ आयुक्त मनपा के परिवहन विभाग के साथ मनपायुक्त से चर्चा करेंगे.

ईपीएफ विभाग के अनुसार मनपा में ईपीएफ सम्बन्धी अनेक मामले विवादों में घिरा है. मनपा के स्थाई कर्मियों का एक-एक वर्ष का अनुशेष बकाया है.

सेना का संगीन आरोप है कि ट्रेवल्स टाइम पुलिस प्रशासन को वश में कर कर्मियों के भविष्य तबाह करने में जुटी है. इनकी यह भी मांग है कि ट्रेवल्स टाइम्स पर कार्रवाई के साथ मनपा प्रशासन भी कड़क कार्रवाई कर कामगारों को न्याय दिलाए अन्यथा पुनः एक बार आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है.