Published On : Fri, May 8th, 2020

मुस्लिम मानवाधिकार कार्यकर्ताओें को अमानवीय व्यवहार पर विरोध प्रदर्शन

नागपुर: कोरोना जैसी महामारी के दौर में मुस्लिम छात्रों, बुद्धिजीवियों व मानवाधिकार कार्यकर्ताओें को अमानवीय व अलोकतांत्रिक तरीके से गिरफ्तार करके उन पर देशद्रोही कानूनों का चयनात्मक तरीके से दुरूपयोग व उत्पीड़न करने के खिलाफ इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग की यूथ विंग – मुस्लिम यूथ लीग व्दारा पूरे देश में एक ही दिन विरोध प्रदर्शन करके विरोध दिवस मनाया गया।

मुस्लिम यूथ लीग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जुबैर खान के नेतृत्व में नागपुर में भी कार्यकर्ताओं व्दारा पोस्टर हाथों में लेकर लॉकडाऊन व सोशल डिस्टेंसीग का पालन करते हुए अपने अपने घरों के सामने से विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया।

जुबैर खान ने बताया कि विरोध दिवस के मौके पर नागपूर व पूरे देश से केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह को ई मेल द्वारा अॉनलाईन याचिका की गई और याचिका व्दारा छात्र कार्यकर्ता,अनुसंधान विद्वान साफुरा ज़रगर, मिरन हैदर, शिफा उर रहमान व अन्य छात्रों और सामाजिक व मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को रिहा करके उनपर लगे UAPA कानून की धारा हटाने की मांग की गई।

इस अवसर पर असलम खान मुल्ला (प्रदेश अध्यक्ष मुस्लिम लीग व पूर्व नगरसेवक), सद्दाम अशरफी, मोहम्मद रिज़वान, जुबैर अली, कामिल बेग, अरबाज खान, शाहबाज खान व अन्य उपस्थित थे।