Published On : Thu, Jan 24th, 2019

कैंसर से नागरिकों को बचाने केयरिंग इंडिया ने जांच शिबिर का किया सफल आयोजन

नागपूर: मोरसेफ लाइफ साइंसेस और केयरिंग इंडिया के द्वारा मिलकर भारत में कैंसर की जल्द जांच किस तरह से हो सकती है. इस तकनीक के साथ एक अभियान की शुरुवात की. जिसका मूल उद्देश्य भारत को कैंसर मुक्त करना और कैंसर के बढ़ते आकड़ो को कम करके इस घातक बिमारी से लोगों को बचाना है. केयरिंग इंडिया की ओर से इंदिरा गांधी रुग्णालय अंबाझरी में यह जांच शिबिर का आयोजन किया गया. जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, महापौर नंदा जिचकार, विधायक परिणय फुके, संदीप जोशी, जयप्रकाश गुप्ता, राम जोशी, रमेश गिरडे, ओमप्रकाश यादव, अमर बागड़े, रुतिका मेश्राम, डॉ. परिणीता फुक, अजीज शेख और के.बी. तुमाने, कैंसर विशेषज्ञ डॉ. प्रवीण गंटावार, जयप्रकाश बारस्कर, केयरिंग इंडिया के गुरमीतसिंह विज मंच पर इस दौरान मौजूद थे. इस समय शिबिर में नागरिक, अधिकारीगण और शहर के जाने माने लोग मौजूद थे. लोगों ने इस जांच शिबिर की बहोत ही सराहना की. लोगों का कहना था कि बहोत ही सरल और सहज ढंग से इस तरह के परिक्षण के माध्यम से हम जान पाए कि हमें यह बिमारी है या नहीं.

इस समय कैंसर विशेषज्ञ डॉ. प्रवीण गंटावार ने इस नई तकनीक को बहोत पसंद किया और कहा कि यह चिकित्सा जगत में नई क्रांति है. विश्व के प्रसिद्द वैज्ञानिकों द्वारा इसे बनाया गया और पार्थ – मोरसेफ लाइफ साइंसेस केयरिंग इंडिया के माध्यम से सारे राइट्स लेकर इसे भारत में और आपके अपने शहर नागपुर में शुरू किया है. आप सभी के सहयोग से इस तरह के जांच शिबिर देश के और भी प्रांतो में लगाए जाएंगे. चिकित्सा जगत में इस तरह की नई पहल कि कैंसर विशेषज्ञ डॉ. जयप्रकाश बारस्कर ने बहोत सराहना की.

Advertisement

नए साल के शुरुवात में ही केयरिंग इंडिया द्वारा इस अभियान को शुरू किया गया. जिससे एक स्वस्थ समाज का व् देश का निर्माण हो सके. दिन रात मेहनत करके केयरिंग इंडिया के गुरमीतसिंह विज द्वारा इस तकनीक को यहाँ शुरू किया गया. क्योकि वह नागपूर के निवासी है और उनका सपना है स्वस्थ भारत बढ़ता भारत.

Advertisement

अनुदेश गोयल, गुरमीत सिंह विज, बिपिन पटेल का मानना है कि समस्त सुखों का आधार ही स्वस्थमय जीवन है. अतः हम सभी स्वस्थ रहे और आगे बढ़ते रहे. इन्ही विचारों को ध्यान में रखकर यह तकनीक आपके लिए शहर में पहलीबार लायी गई है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement