| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Jan 2nd, 2019

    टार्गेट के मुकाबले सम्पत्ति कर वसूली महज 28 फीसदी

    बक़ाया 509 करोड़ और वसूली 140 करोड़ की

    नागपुर: सम्पत्ति कर मामले की जानकारी देते हुए कुकरेजा ने जानकारी दी कि 509 करोड़ का टार्गेट था,अबतक 140 करोड़ वसूली हुई, अब तक रोजाना 2.40 करोड़ की वसूली हो रही है. इस संबंध में आयुक्त के संग उच्च स्तरीय बैठक लेकर अगले 80 दिन औसत लगभग 4 करोड़ रोजाना वसूली हेतु गंभीर पहल करने पर जोर दिया जाएगा. इसमें लापरवाही बरतने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा।

    पिछला बकाया 300 करोड़ का था, उसमें से 33 करोड़ ही वसूली हो पाया. शहर में 630000 संपत्तियों होने की जानकारी मिली है,जिसमें से 453000 सम्पत्ति धारकों का डिमांड बन चुका, इनमें से 353000 सम्पत्ति धारकों को डिमांड भेजा जा चुका है. जिन संपत्तियों का मामला न्यायालय में है, ऐसे मामलों के निपटारे के लिए लीगल टीम का गठन कर निराकरण करने की पहल होगी। जिन संपत्तियों के मालिक सामने नहीं आ रहे, उसे मनपा कब्जे में ले रही है। केस टू केस बकायेदारों का मामला निपटने के लिए जल्द ही स्थाई समिति मनापायुक्त को अधिकार प्रदान करेंगी।

    वर्ष 2019 की पहली स्थाई समिति की बैठक में 25 करोड़ के प्रस्ताव को प्रशासकीय मंजूरी और 20 करोड़ की निविदा के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि अगले 80 दिनों में रोजाना लगभग 4 करोड़ की वसूली के लिए आयुक्त स्तर पर अहम बैठक लेंगे। उक्त जानकारी स्थाई समिति के सभापति विक्की कुकरेजा ने दी।

    एक सवाल के जवाब में कुकरेजा ने जानकारी दी कि स्थाई समिति ने सभी नगरसेवकों को उनकी मांग के अनुसार निधि मुहैय्या करवाने संबंधी सिफारिश की। इनमें से नए नगरसेवकों के साथ सह विपक्षी नगरसेवकों ने प्रस्ताव संबंधी प्रक्रिया पूरा करने में ढिलाई बरती। जिसके कारण सक्रिय नगरसेवकों के प्रस्ताव निविदा स्तर तक पहुंचे। नए नगरसेवकों को सभापति ने सलाह दिया कि वे अपने प्रस्तावों के मामले में सक्रियता दिखाए।

    कुकरेजा ने जानकारी दी कि मई 2019 तक 1 लाख एलिडी लाइट लगाए जाएंगे। जनवरी के अंत में 23000,फरवरी में 18000,मार्च – अप्रैल – मई में 20-20 हजार लाइट लगाए जाएंगे,जनवरी के टार्गेट में से 16500 लाइट लगाने हेतु ज़ोन में भेज दिया गया है।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145