Published On : Wed, Oct 24th, 2018

अपनी मांगों को लेकर 2 नवंबर को निजी स्कूल और शिक्षा संस्थाएं रहेगी बंद

महाराष्ट्र राज्य शिक्षा संस्था महामंडल का निर्णय

नागपुर : अपनी विभिन्न मांगों को लेकर महाराष्ट्र राज्य शिक्षा संस्था महामंडल के बैनर तले निजी शिक्षा संस्थाओं की ओर से राज्यस्तर पर स्कूल बंद आंदोलन किया जा रहा है. 2 नवंबर को इस आंदोलन की शुरुआत नागपुर से की जा रही है. संस्था का कहना है कि कई वर्षों से निजी स्कूल और शिक्षा संस्थाएं ग्रामीण भागों में शिक्षा का कार्य कर रही हैं और उनके द्वारा ही ग्रामीण भाग के विद्यार्थी शिक्षा का लाभ ले रहे हैं.

Advertisement

लेकिन राज्य सरकार इन शिक्षा संस्थाओं को बंद करने पर विचार कर रही है. संस्था ने मांग की है कि शिक्षा पर होनेवाले खर्च को बोझा न समझा जाए और शिक्षा पर खर्च बढ़ाया जाए, साथ ही 4 अक्टूबर 2016 को औरंगाबाद में निकाले गए मोर्चे पर शिक्षकों पर लाठीचार्ज किया गया था और उन पर आपराधिक मामले दाखिल किए गए थे. उन पर लगे सभी आरोप वापस लिए जाएं.

20 प्रतिशत अनुदानित शिक्षकों को प्रचलित नियमानुसार 100 प्रतिशत अनुदान दिया जाए. इस तरह की अन्य मांगों को सरकार के सामने रखा गया है. मांगे नहीं मानने पर स्कूलों को बेमियादी बंद करने की चेतावनी दी गई.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement