Published On : Tue, Dec 11th, 2018

यमुना में डूबी नाव, नांदेड़ जिले के तीन महिला यात्रियों की मौत, 5 यात्री लापता

प्रयागराज: प्रयागराज में सोमवार शाम एक नाव यमुना में डूब गई। इसमें सवार तीन महिलाओं की डूबने से मौत हो गई, जबकि पांच लापता हैं। छह लोगों को गोताखोर, पुलिस व सेना की मदद से बचा लिया गया है। सभी लोग महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले से अस्थि विसर्जन करने के लिए आए थे।

हादसे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है। योगी ने स्थानीय प्रशासन को युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य करने और इसके लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की भी मदद लेने के निर्देश दिये हैं। महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले के रहनार कोलंबी गांव निवासी कौशबाई दिगंबर राव वैश की एक साल पहले मौत हो गई थी।

15 दिसंबर को कौशबाई की बरसी है। उनके पति दिगंबर रामराव वैश बेटे बालाजी, रमेश समेत कुल 14 रिश्तेदारों के साथ अस्थि लेकर आए थे। सोमवार शाम करीब चार बजे सभी लोग गऊघाट से नाव पर सवार हुए। उनके साथ नाविक व एक पुरोहित भी था।

संगम में अस्थि विसर्जन करके लौट रहे थे। शाम करीब पौने सात बजे नाव में छेद हो जाने के कारण उसमें पानी भरने लगा। नाव डूबने की स्थिति देख उसमें बैठे लोगों ने शोर मचाया। नाविक व पुरोहित कुछ लोगों के साथ तैरकर बाहर आ गए। शोर सुन जल पुलिस और सेना के जवान पहुंच गए।

किसी तरह कच्छवे अंगद नारायण, केशव ज्ञानोभा कच्छवे, ज्योति बालाजी वैश, सुनीता देवीदास कच्छवे, मनोहर वैश और मीनाक्षी को बचाकर बाहर निकाल लिया गया। इस दौरान डूब जाने से तीन महिलाओं की मौत हो गई, जबकि पांच अभी लापता हैं। यमुना में जाल डालकर उनकी तलाश की जा रही है।