Published On : Mon, Apr 20th, 2020

नेता हो तो प्रफुल पटेल जैसा.. कोई सरहद ना.. इन्हें रोके !

जिले की जनता की सुध लेने गोंदिया पहुंचे

गोंदिया अपने प्रिय सांसद प्रफुल्ल पटेल को गोंदिया में पाकर हर कोई अचंभित है और हर कोई आश्चर्यचकित ?

क्योंकि रेल मार्ग , हवाई मार्ग देशव्यापी लाकडाउन के वजह से बंद है ।


यहां तक के सरकार ने मुंबई और नागपुर जैसे कई शहरों को रेड जोन श्रेणी में रखा हुआ है और मुंबई से गोंदिया के बीच रास्ते में पड़ने वाले अनेक जिले ऑरेंज जोन और ग्रीन जोन में आते हैं फिर भी सारी सरहदें , सीमाएं और सारे बॉर्डर क्रॉस करते हुए प्रफुल्ल पटेल गोंदिया- भंडारा जिले की जनता का हाल जानने के लिए आखिरकार सोमवार 20 अप्रैल को पहुंच गए और उन्होंने दोपहर में जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर एक आपातकालीन बैठक में भी हिस्सा लिया इस बैठक में गोंदिया कलेक्टर डाॅ. कादंबरी बलकवड़े , जिला पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे , जिला परिषद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजा दयानिधि आदि मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि हर नेता चाहता है कि मैं अपनी जनता के बीच जाकर इस मुश्किल घड़ी में उनका हाल जानूं ?

बताया जा रहा है कि सांसद प्रफुल्ल पटेल ने लीगल परमिट लेकर यह यात्रा की और मुंबई तथा गोंदिया में उन्होंने स्वेच्छिक चिकित्सा जांच भी कराई तथा वे पूर्ण रूप से फिट और तंदुरुस्त है।

गोंदिया -भंडारा जिले के जनता के लिए क्या इंतजाम जिला प्रशासन की ओर से किए जा रहे हैं इसी का जायज़ा लेने के लिए सांसद प्रफुल्ल पटेल ने गोंदिया कलेक्टर ऑफिस में बैठक ली और अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

धान उत्पादक किसानों को तत्काल बोनस और लंबित मजदूरी देने के निर्देश

लाकडाउन को लगभग एक माह का वक्त हो चला है आम नागरिकों को इससे बहुत बड़ा आर्थिक झटका लगा है ।

जिला प्रशासन लोगों के स्वास्थ्य की देखभाल किस प्रकार कर रहा है इस पर सांसद प्रफुल्ल पटेल ने चर्चा की तथा चिकित्सा अधिकारियों की संख्या , खाद्यान्न का वितरण, केसरी कार्ड धारकों को खाद्यान्न की आपूर्ति के साथ-साथ सस्ते अनाज की राशन दुकान से खाद्यान्न का वितरण , सरकारी योजनाओं पर निधि का आवंटन , जिले की घोर – गरीब जनता के खाने – दाने की व्यवस्था , धान उत्पादक किसानों को तत्काल बोनस और लंबित मजदूरी मिलनी चाहिए ऐसे निर्देश दिए।
बे-मोसम बारिश के कारण धान, साग-सब्जी , तरबूज आदि फसलों को हुए नुकसान पर सरकार को एक रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत करने के लिए कहा ताकि उन्हें तत्काल सहायता राशि मिल सके तदहेतु इस दिशा में आवश्यक कदम उठाने चाहिए ऐसे निर्देश दिए।

सांसद प्रफुल्ल पटेल ने – जिले के किसानों को तत्काल रब्बी फसल सीज़न के लिए सिंचाई ओर परियोजनाओं पर भी चर्चा की तथा संकट के समय में जिला प्रशासन को आम जनता ओर किसानो की देखभाल करनी चाहिए तथा प्रभावितों को सहायता राशि प्रदान करनी चाहिए ऐसे निर्देश दिए।

रवि आर्य