Published On : Wed, Aug 21st, 2019

पूनम मॉल हादसे के मामले में गिरफ़्तारी से बचने एन.कुमार पहुंचे कोर्ट

नागपुर: वर्धमाननगर के पूनम मॉल में हुए हादसे को लेकर लकड़गंज पुलिस मॉल के मालिक एन. कुमार हरचंदानी और बेटे विजयकुमार हरचंदानी की तलाश कर रही है. पुलिस ने उनके घर पर भी दबिश दी, लेकिन दोनों नहीं मिले. आखिर पुलिस ने उनके घर पर नोटिस चिपका दिया. अब गिरफ्तारी से बचने के लिए एन. कुमार ने जिला व सत्र न्यायालय में गिरफ्तारी पूर्व जमानत याचिका दायर की है.

ध्यान रहे कि बीते शुक्रवार की रात पूनम मॉल की इमारत ढहने के कारण जयप्रकाश शर्मा नामक बुजुर्ग चौकीदार की मौत हो गई थी. वहीं रेस्टारेंट में काम करने वाली मुक्ताबाई रामभाऊ गजभिए (50) और नंदकिशोर (34) जख्मी हो गए थे. पुलिस ने इस प्रकरण में मॉल के मालिक बिल्डर एन. कुमार और उनके बेटे विजयकुमार के खिलाफ सदोष मनुष्यवध का मामला दर्ज किया था. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करने के लिए रविवार को बैरामजी टाउन स्थित निवास स्थान पर दबिश दी. घर की तलाशी ली लेकिन दोनों नहीं मिले. इसीलिए पुलिस ने घर के दरवाजे पर नोटिस चिपका दिया. दोनों को पूछताछ के लिए जल्द से जल्द पुलिस स्टेशन में हाजिर होने को कहा गया है.

गिरफ्तारी से बचने के लिए एन. कुमार ने मंगलवार को जमानत अर्जी दायर की, जिसमें बताया गया कि इस तरह की घटना हो ऐसा कोई उद्देश्य नहीं था. इसीलिए धारा 304 के तहत मामला दर्ज नहीं हो सकता. यह मामला जमानती है. इसीलिए उन्हें जमानत मिलनी चाहिए. बुधवार को जमानत अर्जी पर सुनवाई हो सकती है. एन. कुमार की ओर से अधिवक्ता सुबोध धर्माधिकारी और अधिवक्ता देवेंद्र चौहान ने पैरवी की.

इस मामले की जांच के लिए लकड़गंज पुलिस ने फोरेंसिक डिपार्टमेंट से मदद मांगी थी. इसके लिए न्याय सहायक प्रयोगशाला को एक पत्र लिखा गया था. जानकारी मिली है कि मंगलवार को फोरेंसिक जांच टीम पूनम मॉल तो पहुंची लेकिन किसी प्रकार की जांच नहीं हो पाई. इमारत गिरने की कगार पर है. कोई दुर्घटना न हो इसीलिए सुरक्षा के लिहाज से मनपा प्रशासन ने भीतर जाने के सारे रास्ते बंद कर दिए है. फोरेंसिक जांच टीम भीतर ही नहीं जा पाई. बुधवार को टीम दोबारा जांच के लिए जा सकती है.