Published On : Thu, Aug 8th, 2019

अतिक्रमणकारियों पर फिर हुई पुलिस की

सडकों पर दुकानदारों का अतिक्रमण

कामठी : कामठी में वाहन चालकों की सुविधा के लिए मुख्य मार्गों का सिमेंटीकरण किया गया, लेकिन अब यह सडकें वाहन चालकों के लिए कम और दुकानदारों के लिए अधिक इस्तेमाल होने लगी है। सडक के बीचोबीच और सडक के दाेनों ओर दुकानदारों का बडे पैमाने पर अतिक्रमण होने से सडक से गुजरनेवाले वाहन चालक और राहगिरों को बडी दिक्कतें हो रही थी। बुधवार को कामठी यातायात विभाग द्वारा इन अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई करते हुए 23 लोगांे का चालान काटा गया और कुछ को चेतावनी दी गई।

कामठी में शुक्रवारी बाजार और गोयल टाकीज के सामने वाले मार्ग का हाल ही में सीमेंटीकरण किया गया। सीमेंटीकरण करने से सडक की चौडाई तो बढ गई, लेकिन यह सडकें वाहन धारक और पैदल चलने वाले राहगिरों के लिए कम इस्तेमाल होने लगी। सडक के बीच में जो दुभाजक बनाया है वहां पर छोटे दुकानदारों ने अपना डेरा जमा लिया है तो वहीं सडक के दाेनों ओर दुकानदारों ने अपनी दुकानें लगी है। जिसमें फूल वाले, मिठाई वाले, चप्पल-जुटे वाले छोटे होटल व्यवसायियों का समावेश है। इस अतिक्रमण की वजह से सीमेंट की सडक सिकुडते-सिकुडते गली में तबदील हो रही थी।

शुक्रवार के दिन तो इन दोनों सडकों की हालत ऐसी हो जाती है कि यहां पर पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है। जिसे जहां मन चाहा उसने वहां अपनी दुकान लगा ली। हालांकि शुक्रवार साप्ताहिक बाजार का दिन होने से न पुलिस विभाग न नगर परिषद द्वारा कोई कार्रवाई की जाती है। इस दिन इन दुकानदारों को छुट दी जाती है, लेकिन सप्ताह के बाकी दिनों में भी यही आलम देखने को मिलता है। सडक पर से वाहन निकालना मुश्किल हो जाता है। यदि दुकानदार के सामान को धक्का लग जाए तो मामला विवाद तक पहंुच जाता है।

बुधवार को कामठी यातायात विभाग के पुलिस उपनिरीक्षक रामकरण पांडे व आगरकर ने सडक के दोनों ओर दुकानदारों द्वारा किए गए अतिक्रमण का सफाया किया इसके लिए कामठी के जूना पुलिस थाने के कर्मचारियों की भी सहायता ली गई। कुछ दुकानदारों को तो चेतावनी दे कर छोड दिया गया, लेकिन 23 दुकानदारों के धारा 102, 117 मंुबई कानून एक्ट के तहत चालान काटकर कार्रवाई की गई। यदि इसके बाद भी इन दुकानदारों द्वारा इसकी प्रकार का अतिक्रमण किया गया तो फिर जब्ती कार्रवाई की जायेगी, ऐसी चेतावनी यातायात विभाग द्वारा दी गई है.