Published On : Thu, Sep 29th, 2016

पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन के दर्जे को लेकर आज होने वाली बैठक अगले हफ्ते तक टली

kashmir

File Pic

 

नई दिल्ली: पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन के दर्जे को लेकर होने वाली समीक्षा बैठक अगले हफ्ते तक के लिए टल गई है. इस बैठक में पीएम मोदी, विदेश मंत्रालय के अलावा वाणिज्य मंत्रालय के अधिकारी भी शामिल होने वाले थे. वहीं पीएम मोदी ने सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक की जिसमें LoC के हालात को लेकर चर्चा हुई.

उरी हमले के बाद से लगातार सरकार पर दबाव है कि वह पाक को कड़ा संदेश दे. ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से मोस्ट फेवर्ड नेशन के दर्जे को लेकर होने वाली समीक्षा बैठक बुलाई गई थी. डब्ल्यूटीओ बनने के साल भर बाद भारत ने पाकिस्तान को 1996 में एमएफएन का दर्जा दिया था, लेकिन पाकिस्तान की ओर से भारत को ऐसा कोई दर्जा नहीं दिया गया था.

कई बार भरोसे के बाद भी पाकिस्तान की तरफ से भारत को यह दर्जा अब तक नहीं दिया गया है. इस वजह से उरी हमले से पहले से भी यह मांग होती रही है कि पाकिस्तान से यह दर्जा छीन लिया जाए. लेकिन भारत ने इसे जारी रखा था.

पाकिस्तान के एक राजनयिक ने कहा कि जब तक दोनों देशों के बीच बातचीत की प्रक्रिया शुरू नहीं होती पाकिस्तान, भारत को सर्वाधिक तरजीही राष्ट्र (एमएफएन) का दर्जा नहीं दे सकता.

क्या है MFN
-सर्वाधिक तरजीही देश का दर्जा
-कारोबार में दिया जाता है MFN का दर्जा
-आयात-निर्यात में आपस में मिलती है विशेष छूट
-सबसे कम आयात शुल्क पर होता है कारोबार
-WTO के सदस्य देश खुले व्यापार और बाज़ार से बंधे हैं
-मगर MFN के क़ायदों के तहत देशों को विशेष छूट