Published On : Wed, Mar 28th, 2018

प्लास्टिक कारोबारियों का बेमुद्दत अनशन


नागपुर: प्लास्टिक बैन के विरोध में प्लास्टिक उत्पादक और कारोबारी अनिश्चितकालिन आंदोलन पर बैठ गए हैं. मस्कासाथ में व्यापारियों ने धरना दिया और सरकार ने न्याय करने की मांग की. व्यापारियों का कहना है कि सरकार ने विश्वास में न लेते हुए कदम उठाया है, जिससे रोजगार की समस्या खड़ी हो गई है. उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं.

विदर्भ प्लास्टिक इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के सचिव हरीश मंत्री, मनीष जैन, जयेश शेषपाल, निशांत बिरला, पिंटू कोठारी, निखिल आमिडवार ने कहा कि जब तक सरकार सकारात्मक कदम नहीं उठाती है, तब तक अनिश्चितकाल के लिए धरना दिया जाएगा. सैकड़ों व्यापारी धरने पर बैठे रहेंगे. उन्होंने कहा कि एक झटके में पूरे उद्योग को खत्म करने का काम सरकार ने किया है. विकसित देशों जहां प्रति व्यक्ति 40-50 किलो प्लास्टिक खपत होती है वहां पर भी आज तक बैन नहीं लगा है, जबकि भारत में अभी प्लास्टिक का उपयोग प्रति व्यक्ति महज 2-3 किलो ही है. सरकार को चाहिए की लोगों को जागरूक करे और री साइक्लिंग की व्यवस्था को मजबूत करे ताकि इधर उधर पड़े प्लास्टिक पुन: उपयोग में आ जाए. इससे पर्यावरण भी ठीक रहेगा और उद्योग धंधे भी चलते रहेंगे.