Published On : Thu, Sep 26th, 2019

विवाद शांत करने पहुंचे पुलिस निरीक्षक पराग पोटे पर धारदार शस्त्रों से किया हमला

नागपुर- वर्धा स्थित सिविल लाइन परिसर में न्यायलय के सामने हाथो में धारदार शस्त्र लेकर दो गुटों में विवाद चल रहा था. यह ध्यान में आते ही खाकी वर्दी में मौजूद पुलिस अधिकारी पराग पोटे ने बीचबचाव और विवाद शांत करने की कोशिश की. इसी दौरान आरोपी की ओर से शस्त्रो से पुलिस अधिकारी पर वार कर उन्हें जख्मी कर दिया गया. इस मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों पर मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया है. पुलिस अधिकारी पराग पोटे यह अभी नागपुर में कार्यरत है और इससे पहले वे सेवाग्राम पुलिस स्टेशन और स्थानीय अपराध शाखा में पुलिस निरीक्षक के तौर पर जिम्मेदारी संभाल चुके है. पुलिस अधिकारी द्वारा मध्यस्थिति नहीं की गई होती तो बड़ी घटना होने की चर्चा भी घटनास्थल पर हो रही है. जानकारी के अनुसार वर्धा शहर के पास आलोड़ी में एक महिला के टुकड़े टुकड़े किया हुआ शव मिला था. उस दौरान पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर आरोपी मोहन वरठी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इसी मामले में गवाह के रूप में पुलिस अधिकारी पोटे वर्धा के न्यायलय में पहुंचे थे.

वे न्यायलय के सामने से जाते समय दो गुटों में विवाद देख उन्होंने मामलदा शांत कराने का प्रयास किया. इसी दौरान एक आरोपी ने उनपर हमला कर दिया. जिसमे वे जख्मी हो गए. यह जानकारी मिलते ही पुलिस कर्मचारी देवानंद भाजीपाले ने घटनास्थल पर पहुंचकर आरोपियों को हिरासत में लिया. मारोती माणिक मरघडे, राखी मारोती मरघडे, सोहम अशोक ढेंगरे, मनोज मारोती मरघडे, नेहा मनोज मरघडे, सविता अशोक मरघडे आरोपियों के नाम है. इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.