Published On : Sun, Feb 21st, 2021

बूटीबोरी में किसान नेताओं का जोरदार स्वागत

नागपुर: राकेश टिकैत शनिवार को यवतमाल के आजाद मैदान में किसान महापंचायत को संबोधित करने वाले थे, लेकिन कोरोना लॉकडाउन और सरकार की दमनकारी नीतियों के कारण उन्हें दिल्ली में ही रोक दिया गया. हालांकि, टिकट नहीं मिलने के कारण कई लोग वर्धा रोड पर गए।

राकेश टिकैत केंद्र सरकार द्वारा शुरू लाये गए तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ देश भर में जागरूकता बढ़ाने के लिए पिछले दो से तीन महीनों से काम कर रहे हैं. वह आज यवतमाल में आयोजित किसान महामेलावा में किसानों से मिलने आ रहे थे. पूर्व-व्यवस्थित यात्रा के लिए तानाशाह केंद्र सरकार ने उन्हें दिल्ली हवाई अड्डे पर रोक दिया. इस दौरान उनके सहयोगी गुरमीत सिंह मंगत (गाजीपुर बॉर्डर), तेजवीर सिंह (हरियाणा), अमरदीप सिंह (पंजाब), गुरविंदर सिंह (नागपुर सरपंच साहब), संदीप दुबे (महाराष्ट्र किसान यूनियन), श्रीकांत तराल (महाराष्ट्र किसान) सहित सभी प्रतिनिधि थे. विदर्भ के संयोजक श्रीकांत तराल, सुनील चोखारे और अन्य लोग यवतमाल जा रहे थे. बूटीबोरी बस स्टॉप पर इन सभी का गर्मजोशी से स्वागत किया गया.

इस अवसर पर मुजीब पठान (सचिव महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी), बाबूभाई पठान, सुधीर देवताले, राजू गावंडे, यूसुफभाई शेख, आशीष वरघणे, राकांपा के प्रदीप सिंह चंदेल, दामू गुजर, शिवसेना के नगरसेवक सरफराज शेख, मनोज ढोके, तुषार डेरकर, भुसावल , संजय उतने, नागेश जीई-हे, शफी शेख, सदन राखेड़े, रजत वरघाने, विभोर अंबटकर, तुषार धाकने, राजू सिंह और अन्य पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित थे.