Published On : Mon, Sep 7th, 2020

झूलेलाल चालिहा प्रतियोगिता में विजयी पायल गेहानी प्रथम ।पूरे देश विदेश से जबरदस्त प्रतिसाद

नागपुर ,विश्व के सिंधी समाज से जुड़ी विश्व सिंधी सेवा संगम द्वारा सिंधी बोली को बढ़ावा देने और बच्चों में अपने त्यौहार और वरुणदेव झूलेलाल की जीवनी का ज्ञान हो एक प्रतियोगिता झूलेलाल चालिहा क्यो मानते है और उसका महत्व जिसमे 1 मिनेट का वीडियो बनाकर भेजना था।विश्व सिंधी सेवा संगम महाराष्ट्र के अध्यक्ष प्रताप मोटवानी के कुशल मार्गदर्शन में इसका आयोजन हुआ।

इसकी चीफ प्रोजेक्ट डॉ हिना मुनियार ने बताया कि पूरे देश विदेश से सिंधी समाज के वीडियो उन्हें प्राप्त हुए।जिसमे प्रथम पायल गेहानी,  दिव्तीय में हरीश खत्री ,गोंदिया, एडवोकेट मीरा भम्भवानी और पूजा मोरयानी, सोमैया और हरीश विधानी,श्रीमती उषा आमेसर,तृतीय अंजली ठकरानी,रुचिका केशलानी,समायरा चंदनानी,सपना भागिया,और प्रोत्साहन पुरस्कार, सांची सेवलानी,अश्विका अजय अडवाणी राजकुमारी ग्वालानी को दिए गए।।

विजेताओ को पुरस्कार सुमित ठुठेजा और रीत रूपानी की तरफ से प्रदान किये गए।।सभी को विश्व सिंधी सेवा संगम की तरफ से सर्टिफिकेट दिए जाएंगे।।प्रतियोगिता के जज थे नांदेड़ के डॉ भरत जेठवानी, धुलिया के डॉ संतोष खत्री और कुंदन ठुठेजा थे। डॉ हिना मुनियार ने बताया कि रविवार को प्रताप मोटवानी की अध्यक्षता में साउंड थेरेपी का वेब सत्र ट्रेनर 

रीत रूपानी के द्वारा आयोजित हुआ जिसमें पूरे देश विदेश से लोग शामिल हुए और बेहद प्रभावित हुए।और उन्हें आत्मिक शांति सुख का आभास हुआ सभी बेहद ही आनंदित हुए।।सत्र बेहद सफल रहा।।सत्र में अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष लायन डॉ राजू मनवानी ने उपस्तिथ होकर इसको बेहद सराहा और उन्होंने महाराष्ट्र टीम के अध्यक्ष प्रताप मोटवानी  की पूरी टीम की बेहतरीन कार्यो की बेहद सराहना की।।अंत मे डॉ हिना मुनियार ने सभी का आभार माना।