Published On : Tue, Mar 24th, 2015

कोंढाली बस स्टैंड पर पेयजल के लिए भटकते यात्री


बिजली के तार हटे, फिर भी निर्माण कार्य ठप्प

Kondhali Bus stand
कोंढाली (नागपुर)। कोंढाली के बस स्टैंड पर यात्रियों को पेयजल के लिए भटकना पड़ता है. कभी-कभी समीपस्थ होटलों पर पानी लेने गए यात्रियों की बस भी छूट जाती है. विगत दो वर्षों से यहां पर पेयजल की समस्या बनी हुई है. पर कुंभकर्ण निंद में सोये एस.टी. महामंडल के अधिकारियों को कोंढाली बस स्टेशन से यात्रा करने वाले तथा लंबी दुरी के यात्रियों को पेयजल की व्यवस्था करने में अब तक असफल बताया गया है.

अपुर्ण निर्माण कार्य  
53 वर्ष पुराने जीर्ण बस का नवनिर्माण कार्य 2013 में शुरू किया गया. यह निर्माण कार्य 9 माह में पूर्ण किया जाना था. लेकिन 18 माह बितने पर भी यहां का निर्माण कार्य अपूर्ण है. अपूर्ण निर्माण कार्य के लिए बस स्टेशन परिसर के हायटेंशन बिजली के तार बताये गए थे.

बिजली के तार टूटे
यहां के बस स्टेशन निर्माण में बिजली के तार अडंगा बताया जाता था. किंतु विगत आठ दिन पूर्व ही यहाँ से उच्च दाब बिजली तारों को हटाया गया है. फिर भी यहां के ठेकदार द्वारा बस स्टेशन का निर्माण कार्य शुरू नही किया गया है.

चिलचिलाती धुप से परेशानी
एक ओर पेयजल के लिए यात्री भटकते नजर आते है. वही करीब 43 गांव की जनता कोंढाली बस स्टैंड से अपनी यात्रा करते है. लेकिन बस स्टेशन के अपूर्ण निर्माण कार्य के चलते उन्हें चिलचिलाती धुप में खड़े रहने पर मजबूर होना पड़ता है. इस गंभीर घटना की ओर वरिष्ठ अधिकारी मौन साधे है. इस संदर्भ में नागपुर विभाग के विभाग प्रमुख राजेंद्र घाटोले से पूछने पर उन्होंने बताया कि बिजली के तार की समस्या थी वो दूर हो गई है. बस स्टेशन के निर्माण कार्य को तुरंत शुरु करने के आदेश तथा भुजल सर्वेक्षण विभाग द्वारा नए जलस्त्रोत के लिए सर्वेक्षण की मांग की जाएगी.