Published On : Sat, Oct 24th, 2020

धार्मिक स्थल खोलें -विश्व हिंदू परिषद द्वारा महा आरती की गई

नागपुर: कोविद -19 के प्रकोप के कारण पिछले छह महीनों से सरकार द्वारा धार्मिक स्थानों को बंद कर दिया गया है। शराब की दुकानों, जिम, उद्यानों को खोलने की अनुमति दी गई थी लेकिन धार्मिक स्थानों को अभी तक नहीं खोला गया है। विश्व हिंदू परिषद, बजरंग, दल और दुर्गा वाहिनी ने शनिवार को नागपुर महानगर की ओरअग्याराम देवी चौक मे आंदोलन किया, जिसमें चेतावनी दी गई कि सरकार को लोगों की धार्मिक भावनाओं के साथ नहीं खेलना चाहिए और धार्मिक स्थलों को तुरंत शुरू करना चाहिए।

Advertisement

वर्तमान में नवरात्र प्रगति पर हैं और दशहरा और दीवाली जैसे हिंदू धार्मिक त्योहार निकट भविष्य में आ रहे हैं। नवरात्र से शुरू होने वाले उत्सव कोविद के कारण इस वर्ष शांत हैं। पिछले छह महीनों से मंदिरों के बंद होने के कारण लोग ऊर्जा से बाहर हो गए हैं। सरकार, जो शराब की दुकानों, जिम, बसों और बगीचों में भीड़-भाड़ की अनुमति देती है, में बताया गया है कि धार्मिक समारोहों के कारण कोरोनस बढ़ रहे हैं। विश्व हिंदू परिषद ने कहा है कि सरकार की यह मानसिकता हिंदुओं की भावनाओं को आहत कर रही है।

Advertisement

सरकार के इस दोहरे मापदंड की निंदा करते हुए, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, दुर्गा वाहिनी नागपुर महानगर ने सभी धार्मिक स्थानों को खोलने और महाराष्ट्र सरकार को जगाने के लिए एक महा आरती का आयोजन किया। इस महा आरती में बड़ी संख्या में क्षेत्र के नागरिकों ने भाग लिया।

Advertisement

प्रांत मंत्री गोविंद शेंडे,प्रांत प्रचार प्रमुख निरंजन रिसालदार ,जिला कार्यकारी अध्यक्ष सुभाष मुंजे , बजरंग दल के सह-संयोजक नागपुर महानगर विशाल पुंज, महानगर सुरक्षा प्रमुख लखन कुरील, गोरक्ष प्रमुख नागपुर महानगर भोजराज नवरे,जिला संयोजक सुशील चौरसिया, जिला प्रमुख छात्र अभिषेक गुप्ता। इस अवसर पर जिला सुरक्षा प्रमुख केतन कड़ु, खदान ब्लॉक समन्वयक निखिल गौड़, गणेशपेठ ब्लॉक समन्वयक शतायु मानेकर, अंशुल, आकाश, आयुष सहित कई लोग उपस्थित थे।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement