Published On : Tue, Jun 6th, 2017

अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस पर पथनाट्य के जरिए शहर की नदियों की दिखाई व्यथा


नागपूर: 
अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण दिवस के अवसर पर नागपुर महानगर पालिका एवं ग्रीन विजिल संस्था की ओर से धरमपेठ के ट्राफिक चिल्ड्रन पार्क में पथनाट्य एवं पर्यावरण सरंक्षण पर परिसंवाद का आयोजन किया गया था. पथनाट्य ‘एक नदी थी’ के जरिए ग्रीन वीजील के संस्थापक कौस्तुभ चटर्जी और उनकी टीम ने नाग नदी, पीली नदी और पोहरा नदी के साथ तालाबों की दुर्दशा और शहर में बढ़ रहे प्रदूषण पर प्रस्तुति दी. पथनाट्य ‘ एक नदी थी ‘ बहुत ही मर्मस्पर्शी पथनाट्य माना जा रहा है. जिसमें स्वयं यमराज नागपुर पधारते हैं और शहर में फैले जलवायु, घनकचरा प्रदूषण से भयभीत होकर पाताल लोक वापस चले जाते हैं. यमराज जाने से पहले नागनदी से क्षमा मांगते हुए कहते है कि शहर की नदीयों और तालाबों का पुनरुत्थान नागरिकों के सहयोग के बिना असंभव है. इस पथनाट्य में व्यंग, हास्य ,सकारत्मक सोच का भरपूर समावेश है. जिसको मौजूद दर्शकों ने खूब सराहा.

कार्यक्रम के दूसरे चरण में पर्यावरण सरंक्षण पर परिसंवाद आयोजित किया गया था. जिसमें ग्रीन विजिल ने नागपुर के पर्यावरण से संबंधित मुद्दे उठाए. जिस पर विधायक, नगरसेवक, महानगर पालिका के अधिकारी और आम जनता ने विचार विमर्श किया. इस दौरान मौजूद विधायक अनिल सोले ने पर्यावरण पर जानकारी देते हुए बताया कि पर्यावरण को लेकर पेरिस में अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन और भारत को पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाला देश बताया. जिसके जवाब में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में पांच हजार वर्ष पहले से पर्यावरण की पूजा की जाती है. सोले ने जानकारी देते हुए बताया कि महाराष्ट्र में 33 प्रतिशत जंगल होना चाहिए, लेकिन उसका प्रमाण केवल 19 प्रतिशत है. जिसके लिए सरकार ने 3 वर्षो में 50 करोड़ वृक्षारोपण करने का निर्णय लिया है. उन्होंने बताया कि पूरे राज्य में 400 करोड़ पौधो को लगाने की जरुरत है, तभी हम 33 प्रतिशत के लक्ष्य तक पहुंच पाएंगे. इस बार 1 से 7 जुलाई तक 4 करोड़ पेड़ो को लगाने का निश्चय किया गया है. धरमपेठ जोन सभापति और नगरसेविका रूपा राय ने भी पर्यावरण पर अपने विचार साझा किए.


इस दौरान कार्यक्रम में ग्रीन विजिल के संस्थापक कौस्तुभ चटर्जी ने बताया कि पूर्णिमा की रात में 1 घंटे की बिजली बचत की मुहीम अनिल सोले के प्रयत्नों से ही सफल हो सकी थी. उन्होंने नागरिकों को जिम्मेदार बनते हुए पर्यावरण संरक्षण के साथ इस अभियान से जुड़ने के लिए आगे आना चाहिए.

इस कार्यक्रम में नगरसेविका उज्वला शर्मा, नगरसेवक सुनील अग्रवाल, वर्षा ठाकरे, मनपा के उद्यान अधीक्षक सुधीर माटे भी मौजूद थे. इस पथनाट्य को सफल बनाने में ग्रीन विजिल के युवा कलाकारों ने काफी मेहनत.