Published On : Sat, Oct 4th, 2014

कन्हान : डीजल चोरी के संदेह में वेकोलि गार्ड ने गांववालों को पीटा


पहले गोलीबारी, फिर तलवार से हमला; 6 में से एक घायल की हालत चिंताजनक


Kanhan Firing
कन्हान (नागपुर).

स्थानीय वेकोलि परिसर में कल शुक्रवार को डीजल चोरी के संदेह में वेकोलि के गार्ड ने वेकोलि क्रमांक चार के निवासियों पर गोलीबारी की और तलवार से हमला किया. इस हमले में 6 निवासी जख्मी हो गए, जिसमें एक की हालत गंभीर बताई जाती है. इस घटना से लगता है कि कन्हान वेकोलि परिसर में एक बार फिर कोयला और डीजल माफियाओं ने सिर उठा लिया है. चुनावी माहौल में गैंगवार की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता. इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने जिस तरीके से घटना से निपटा है उससे उसकी कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान उठने लगे हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार वेकोलि परिसर में रात 9 बजे के आसपास प्रेमशंकर छेदीलाल राउत नामक सुरक्षा रक्षक गश्त कर रहा था. इसी दौरान एक दूसरे सुरक्षा-रक्षक अजय (गोगी) और रविप्रसाद सिंह ने राउत से कहा कि इस क्षेत्र में तीन-चार मोटरसाइकिलें घूम रही हैं. उसने डीजल चोरी के लिए उनके घूमने का शक जताया.
इस पर प्रेमशंकर राउत ने एक गाड़ी पर सवार तीन युवकों को रोककर उनसे पूछताछ की. राजा उर्फ विकास लच्छीराम धुर्वे (19) ने कहा कि वे कन्हान से आए हैं और खदान में रहते हैं. अपने घर जा रहे हैं. लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने राजा और अन्य दोनों युवकों को बंदूक के बट से पीट दिया. राजा और उसके साथियों ने यह घटना गांव में जाकर बताई. गांव के 10-12 लोगों सुरक्षा कर्मियों से इस संबंध में पूछताछ करने के लिए पहुंचे तो उनकी भी सुरक्षा कर्मियों ने बंदूक की बट से पिटाई कर दी. बंदूक के बट से पीटने के बाद इन सुरक्षा कर्मियों ने तलवार जैसे किसी धारदार हथियार से सभी पर हमला कर दिया.

Kanhan Firing
जब नागरिक अपनी भूमिका पर अडिग रहे तो अजय गोगी नामक सुरक्षा कर्मी ने राउत की 12 बोर की बंदूक से नागरिकों पर गोलीबारी कर दी. इससे गुस्साए जमाव ने एमएच 40 वाय 6004 क्रमांक की बोलेरो गाड़ी को जला दिया. इस गोलीबारी में जगदीश भारती, सचिन धुर्वे, बोधराम विश्वकर्मा, शिवकुमार विश्वकर्मा, अशोक टेकाम, प्रमोद सिंह चौहान जख्मी हो गए. सभी को नागपुर के मेयो अस्पताल में भरती किया गया है. इसमें से एक की हालत चिंताजनक बताई जाती है. इस बीच पुलिस ने इस घटना को मामूली बताते हुए पत्रकारों को जानकारी देने से मना कर दिया.