Published On : Tue, Aug 4th, 2020

मनपा के धरमपेठ झोन के अधिकारी और कर्मचारी कर रहे है दुकानदारों को परेशान

नागपुर– नागपुर शहर में कोरोना संक्रमण में जब लॉकडाउन हुआ था, तो करीब मार्च महीने से शहर में पूरी तरह से ज्यादातर दुकानें, और संस्थान बंद थे, लेकिन अब कुछ नियमों के साथ दुकानें खुली है तो कुछ अधिकारियों और कर्मचारियों की दादागिरी के कारण दुकानदारों का जीना मुश्किल हो गया है. दुकानदारों की शिकायत के अनुसार गोकुलपेठ मार्केट में सैकड़ो दुकाने है, जिनमें बर्तन, होम एप्लायंसेज, कपडे और विभिन्न सामानो की दुकाने है.

यहां पर रोजाना मनपा के धरमपेठ झोन ( NMC DHARAMPETH ZONE ) के अधिकारी और कर्मचारी आते है और दुकानदारों के रोजाना हजारों रुपए के चालान ( CHALAN ) करते है, जिसके कारण पहले ही आर्थिक मंदी में डूबा व्यापारी और दुकानदार इन कर्मचारी और अधिकारियों से परेशान हो चूका है. दकानदारो का कहना है कि इन मनपा के अधिकारियो का कहना है की अपने शटर के बाहर एक भी सामान मत रखो. लेकिन दुकानदारों का इसपर कहना है की कुछ सामान तो वे दूकान के सामने रख ही सकते है, तो इससे कौनसा अतिक्रमण होगा. लेकिन यह अधिकारी दुकानदारों की एक भी नहीं सुन रहे है.

दुकानदारों का कहना है की एक दिन के बाद दुकानें खोली जाती है, इनका समय सुबह 9 से 7 है, लेकिन अगर शाम को 7 बजे के बाद 10 मिनट का भी समय ज्यादा हो जाता है, तो धरमपेठ झोन ( NMC DHARAMPETH ZONE ) के अधिकारी और कर्मचारी आकर चालान बनाते है, या फिर बहोत बदतमीजी करते है. दुकानदारों का कहना है यह कोई सोनार की दुकाने तो नहीं है की दूकान के बाहर कुछ भी सामान नहीं रखेंगे, दुकानदारों का कहना है की उन्हें अतिक्रमण की फ़िक्र है, लेकिन अब धरमपेठ झोन ( NMC DHARAMPETH ZONE ) के अधिकारी दादागिरी और मनमानी कर रहे है. गोकुलपेठ के इन दुकानदारों ने मनपा आयुक्त से भी इस मामले में सज्ञान लेने का निवेदन किया है.