Published On : Thu, Mar 30th, 2017

संघर्ष के दिनों में भी एक नहीं काँग्रेस


नागपुर:
एक ओर विपक्षी दल के विधिमंडल सदस्यों द्वारा किसानों के लिए निकाली जा रही संघर्ष यात्रा के अगुवाई काँग्रेस कर रही है। दूसरी तरफ पार्टी के भीतर ही शुरू संघर्ष समाप्त होता दिखायी नहीं दे रहा। मनपा से लेकर दिल्ली तक की राजनीति में हाशिये पर खड़ी काँग्रेस नेताओं के आपसी टकराव से उबर नहीं पायी है। पार्टी भले ही किसानों के लिए संघर्ष कर रही हो पर जरुरत तो है की घर का संघर्ष पहले ख़त्म किया जाये। गुरुवार को संघर्ष यात्रा नागपुर में थी इस दौरान वेरायटी चौक पर प्रदर्शन का कार्यक्रम था। यह यात्रा और कार्यक्रम किसी एक पार्टी का न होने के बावजूद काँग्रेस के प्रमुख नेता प्रदर्शन में शामिल नहीं हुए। विलास मुत्तेमवार, डॉ नितिन राउत, अनीस अहमद, सतीश चतुर्वेदी जैसे नेता इस कार्यक्रम से दूर ही रहे।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement