Published On : Tue, Sep 17th, 2019

27 अक्टूबर तक ‘नो टू सिंगल यूज़ प्लास्टिक’ अभियान

Advertisement

पहले जनजागरण फिर जुर्माना – महापौर

 

Advertisement
Advertisement

नागपुर: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का स्वच्छ भारत का सपना को साकार करने के उद्देश्य से देश के प्रधानमंत्री ने उनकी 150वीं जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर 2014 से स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की। इसके 5 वर्ष पूर्ण होने पर ‘स्वच्छता ही सेवा’ जनजागरण अभियान चलाया जाएगा। इसके साथ ही ‘एक बार उपयोग की गई प्लास्टिक का दोबारा उपयोग पर रोक’ हेतु जनजागरण भी की जाएंगी। उक्त जानकारी महापौर नंदा जिचकार ने की।

जिचकार ने बताया कि प्लास्टिक का दोबारा उपयोग पर रोक लगाने हेतु 15 अगस्त को प्रधानमंत्री ने देशवासियों से की थी। राज्य सरकार ने 23 मार्च 2018 को एक अध्यादेश जारी कर प्लास्टिक व थर्माकोल से बनी वस्तु जो नष्ट नहीं होती हैं, उसका उपयोग,खरीद-बिक्री हेतु नियम तैयार किया था। इसी आधार पर एक बार उपयोग की गई प्लास्टिक को दोबारा उपयोग न करने की अपील महापौर ने की।

उक्त जनजागरण 27 अक्टूबर तक शुरू रहेंगी। इसी दौरान रैली निकाली जाएगी,रैली में शामिल नागरिक आसपास के प्लास्टिक कचरे को संकलन करेंगे। फिर इस जमा प्लास्टिक को रिसाइकिल के लिए तय कंपनियों को देंगे।जनजागरण अभियान खत्म होते ही दोबारा प्लास्टिक के उपयोगकर्ता या बेचने वालों से जुर्माना वसूला जाएगा।

महापौर ने बताया कि प्लास्टिक पर बंदी लाने हेतु मनपा की एनडीएस पथक नियमित कार्रवाई कर रही हैं। अबतक 15 टन 700 किलो प्लास्टिक जप्त किया,जिससे 4435300 रुपये जुर्माना के रूप में मनपा को प्राप्त हुआ हैं।अबतक इस पाठक 41 कर्मी थे,अब नए 46 की भर्ती से कुल 87 कर्मी हो गए हैं। इसके साथ ही प्लास्टिक मुक्त दीपावली मनाने का आव्हान महापौर ने नागरिकों से की। प्लास्टिक मुक्त अभियान में शामिल स्वयंसेवी संस्था को पुरस्कृत किया जाएगा।

महापौर के अनुसार अभियान की शुरुआत मनपा मुख्यालय से की जाएंगी,फिर विभागीय कार्यालय,अस्पतालों और फिर मनपा शालाओं में जनजागरण सह शक्ति की जाएंगी। इस अवसर पर अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी,डॉक्टर प्रदीप दासरवार आदि उपस्थित थे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement