Published On : Thu, Jul 26th, 2018

केलीबाग रोड : खाली होने लगीं दूकानें

नागपुर: महल स्थित केलीबाग रोड पर अब दूकानदारों ने एक तरह से हथियार डाल दिए हैं और बुधवार को खुद ही दूकानदारों ने अपनी दूकानों को खाली करना शुरू कर दिया है. दूकानदारों के लिए प्रशासन की ओर से भी राहत भरी खबर इतनी ही आई कि मनपा की ओर से अतिक्रमण हटाने की जो कार्रवाई 26 जुलाई से होने वाली थी, वह अब 1 अगस्त से होगी.

शुरू किया माल हटाना
मनपा के अल्टीमेटम के बाद केलीबाग के दूकानदारों ने मंगलवार देर रात से ही अपना सामान हटाना शुरू कर दिया था. बुधवार को सुबह इस काम में तेजी आ गई. व्यापारियों को इस बात की भनक लग गई थी कि अब किसी भी हालत में कहीं से भी राहत मिलने की कोई गुंजाइश नहीं है. ऐसे में बुधवार को काफी सुबह से दूकानों में रखा माल हटाने की कवायद शुरू हो गई थी. दोपहर तक आधी से ज्यादा दूकानों का माल खाली हो गया था.

व्यापारियों की सबसे बड़ी चिंता उनके महंगे फर्नीचर को लेकर भी है. जो कुछ निकाला जा सकता है, वह सब कुछ निकालने का काम शुरू है. जो दूकानें कल तक ग्राहकों से भरी रहतीं थी, उनमें से अधिकांश में सन्नाटा पसरा हुआ था. दूकानदार और उसके कुछ कर्मचारी ही वहां नजर आए.

14 की जगह अब 38 दूकानें हटेंगी
मनपा की ओर से पहले बताया गया था कि गुरुवार को होने वाली कार्रवाई में 14 दूकानों का अतिक्रमण तोड़ा जाना था. मात्र बुधवार को यह बताया गया कि अब बड़कस चौक से कोतवाली पुलिस थाने के बीच कुल 38 दूकानों पर बुलडोजर चलने वाला है, जिससे जो दूकानदार अपने नंबर बाद में आएगा को लेकर राहत महसूस कर रहे थे, उनके भीतर भी बेचैनी बढ़ गई. अब वहां अफरातफरी का माहौल है और कब किसका नंबर लग जाएगा, यह अंदाज लगाना मुश्किल है.

क्यों दी जा रही है मोहलत
इस बीज जागरूक नागरिकों ने यह सवाल उठाया कि मनपा अपने प्रकल्पों को लेकर गंभीर नहीं है. उसके कुछ अफसर जानबूझकर मोहलत प्रदान करने की दूकान खोलकर बैठे हुए हैं. जो कार्रवाई गुरुवार से शुरू की जानी थी, उसे 5 दिन के लिए क्यों बढ़ाया गया, इसका कोई भी ठोस कारण मनपा की ओर से नहीं दिया गया. यह जरूर संकेत किया गया कि इस बार किसी को बख्शा नहीं जाएगा.