Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Aug 13th, 2018

    एक भी नागरिक बेघर नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का नुकसान हो.: गडकरी

    नागपुर: केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को शहर में जारी विभिन्न विकास कार्यों की समीक्षा बैठक ली. बैठक में मुख्य तौर पर स्मार्ट सिटी योजना को लेकर उन्होंने प्रशासन और संबंधित विभागों को कड़े निर्देश दिये. उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के तहत जारी विकास कार्यों को लेकर हाउसिंग बैंक का विशेष तौर पर ध्यान रखा जाना चाहिए. एक भी नागरिक बेघर नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का नुकसान हो.

    महानगर पालिका के पंजाबराव स्मृति सभागृह में आयोजित इस बैठक में महापौर नंदा जिचकार, उपमहापौर दीपराज पार्डीकर, विधायक कृष्णा खोपड़े, गिरीश व्यास, नागो गाणार, विकास कुंभारे, सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी, मनपा विशेष प्रकल्प समिति के अध्यक्ष प्रवीण दटके, सड़क परिवहन मंत्री कार्यालय के विशेष कार्यकारी अधिकारी सुधीर देऊलगांवकर, विभागीय आयुक्त अनुपकुमार, मनपा आयुक्त वीरेंद्र सिंह, जिलाधिकारी तथा नागपुर सुधार प्रन्यास के सभापति अश्विन मुद्गल, मध्य रेल नागपुर मंडल के डीआरएम सोमेशकुमार, नागपुर मेट्रो के संचालक (प्रकल्प) महेशकुमार, सार्वजनिक लोकनिर्माण विभाग के मुख्य अभियंता उल्हास देबडवार, मनप के अतिरिक्त आयुक्त अजीज शेख, नागपुर स्मार्ट एंड सस्टेनेबल सिटी कॉर्पोरेशन लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. रामनाथ सोनवणे, अशोक मोखा के अलावा अन्य कई प्रमुख अधिकारियों की उपस्थिति रही.

    2 चरणों में पूरी करे विकास योजना
    उन्होंने पूर्व नागपुर में जारी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत पारडी-भरतवाडा-पुनापूर में होने वाले विकास कार्यों को 2 चरणों में पूरा करने के निर्देष दिये. उन्होंने कहा कि पहले चरण में नागपुर सुधार प्रन्यास, निजी और अन्य जगह पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घरों का काम पूरा किया जाये. उच्च दर्जे के घर बनाकर पहले हाउसिंग बैंक तैयार हो. इन घरों में नागरिकों को स्थानांतरित करके दूसरे चरण में उस भाग का नियोजनबद्ध तरीके से विकास किया जाये.

    गडकरी ने साफ कहा कि ये घर उच्च दर्जे के होने चाहिए. हर घर में सोलार बिजली, वाटर हीटर और एलईडी बल्ब लगे होने चाहिए. तकनीकी और आर्थिक आधार पर जरूरी निविदायें मंगवाई जाये. प्रोजेक्ट को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए पहले प्रथम ‘प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कन्सल्टेसी’ नियुक्त की जाये. सड़कें बनाने के लिए फ्लाय ऐश का उपयोग किया जाये. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए समाजमंदिर तैयार किये जाये. पानी की बर्बादी रोकने के लिए वाटर रिसाइकिल प्लांट तैयार किया जाये. सांडपाणी प्रक्रिया प्रकल्प बनाकर इसके पानी को उपयोग सार्वजनिक शौचालयों और उद्यानों के लिए किया जाये. इस क्षेत्र में एक बेहतर बाजार भी बनाया जाये.

    जल्द से जल्द हो पट्टों का वितरण
    गडकरी ने कडाई से कहा कि पट्टों के वितरण को लेकर ढिलाई न बरती जाये. मुख्यमंत्री और मेरे पास समय नहीं है इसलिए महापौर और संबंधित क्षेत्रों के विधायकों के हाथों पट्टों का वितरण किया जाये. उन्होंने गड्डीगोदाम स्थित गुरुद्वारे के लिए भूमिगत सीवेज लाइन की योजना तैयार करने को कहा. इस बारे में कोई परेशानी हो तो जल्द से जल्द दूर हो. उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि शहर के नागरिकों की सेवा के लिए कोई भी प्रस्ताव हो तो उसे पूरा करने में रेलवे की अड़ंगेबाजी अच्छी बात नहीं. किसी भी विकास कार्य में रेलवे सहयोग करे तो बेहतर होगा. ऐसे कामों के लिए रेलवे ने जल्द से जल्द एनओसी देनी चाहिए.

    वंजारी नगर स्थित पानी की टंकी से लेकर अजनी रेलवे स्टेशन तक बनने वाले ओवरब्रिज को लेकर गडकरी ने रेलवे अधिकारियों को दोटूक निर्देश दिये. उन्होंने कहा कि इस मामले में रेलवे की ओर से कोई रुकावट पैदा न की जाये. इस बारे में सार्वजनिक लोकनिर्माण विभाग को जल्द से जल्द टेंडर जारी करने के निर्देश भी उन्होंने दिये. इस दौरान गडकरी के समक्ष यशवंत स्टेडियम से पंचशील चौक परिसर में प्रस्तावित डॉ. बाबासाहेब आम्बेडकर कनवेंशन सेंटर, केलीबाग रोड व बाजार और अंबाझरी ओपन थिएटर को पीपीटी प्रजेंटेशन भी किया गया.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145