Published On : Wed, Jul 4th, 2018

समाचारपत्र में संत कबीर पर छपे आपत्तिजनक लेख के खिलाफ कबीरपंथियो में नाराजगी

नागपुर: सोशल मीडिया और व्हाट्सप्प पर महापुरुषों, भगवानों, संतों को लेकर आपत्तिजनक टिपण्णी करने की कई घटनाएं आए दिन सामने आती रहती है. जिसके कारण कई बार दंगे जैसा माहौल भी बन जाता है. लेकिन देश के एक बड़े समाचारपत्र ‘ नई दुनिया ‘ ने संत कबीर के प्रकटोत्सव पर, यानी 28 जून को ही, संत कबीर पर आपत्तिजनक लेख प्रकाशित किया है. इसमें बाकायदा लेख लिखनेवाले दोनों के नाम और मेल आईडी भी दिए गए हैं. इस प्रकार से दूसरे समाज की भावनाएं आहात करने का कार्य पहले सोशल मीडिया द्वारा किया जाता था और अब लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ द्वारा ही यह काम किया जा रहा है. नागपुर शहर के कबीरपंथी समाज के लोगों में इस लेख को लेकर काफी नाराजगी है. जिसके कारण इन लोगों ने गिट्टीखदान पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है. लेकिन पुलिस स्टेशन में इनकी एफआईआर नहीं ली गई. पुलिस का कहना था कि जो मामला जहां का है. रिपोर्ट वहीं लिखानी होगी. उसके बाद यह लोग सिविल लाईन स्थित रामगिरी में मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें निवेदन देना चाहते थे. लेकिन इन्हें मुख्यमंत्री से मिलने नहीं दिया गया.

कबीर पंथियों की जानकारी के अनुसार नॉएडा में दोनों आपत्तिजनक लेख लिखनेवाले लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. इन दोनों के नाम अभिषेक अवस्थी, कानपूर से और विवेक रंजन श्रीवास्तव जबलपुर से है. ख़ास बात यह है कि 28 जून को संत कबीर का प्रकटोत्सव पूरे देश में मनाया गया. जबकि इसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मगहर गए थे और उन्होंने वहां जाकर संत कबीर की तारीफ़ भी की थी.

कबीरपंथी देवेंद्र जैस्वाल ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जिस तरह से इतने बड़े समाचारपत्र में नाम के साथ एक भद्दा लेख लिखा गया है. साथ ही कार्टून भी बनाया गया है. इससे कहीं न कहीं समाचारपत्र की गरिमा और लोगों के प्रति उस समाचारपत्र की विश्वसनीयता कम हुई है. समाचार के संपादक को यह देखना चाहिए कि इस तरह के लेख उनके यहां न छपे. उन्होंने दोनों लोगों पर कार्रवाई की मांग की है साथ ही उसी समाचार पत्र में संत कबीर से जुड़े लेख पर माफीनामा प्रकाशित करना चाहिए. अन्यथा कोर्ट में समाचारपत्र के खिलाफ जाने की चेतावनी भी उन्होंने और उनके साथ आये लोगों ने दी. इस दौरान संपतदास महंत, मोहनदास महंत, बाबूदास जैस्वाल, पंकज धापके, अमित आड़े, प्रवीण महंत, दिलीप मालापुरे, गोवर्धन पुतरिया समेत अन्य लोग मौजूद थे.