Published On : Mon, Oct 27th, 2014

वर्धा : हिंदी विवि में 3 नवंबर से त्रिदिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी


साहित्‍य अकादेमी, नई दिल्‍ली एवं विश्‍वविद्यालय का संयुक्‍त आयोजन

वर्धा। साहित्‍य अकादेमी, नई दिल्‍ली एवं महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय के संयुक्‍त तत्‍वावधान में 03 से 05 नवंबर 2014 को त्रिदिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन किया गया है. इस संगोष्‍ठी में ‘दक्षिण भारत की भाषाएँ और हिंदी में परस्‍पर साहित्यिक अनुवाद : स्थिति, चुनौतियां एवं मूल्‍यांकन’ विषय पर चर्चा की जाएगी. संगोष्‍ठी का उदघाटन 3 नवंबर को पूर्वाहन 11.30 बजे हबीब तनवीर सभागार में होगा. समारोह का उदघाटन विश्‍वविद्यालय के कुलाधिपति प्रो. कपिल कपूर करेंगे. बीज व्‍याख्‍यान विश्‍वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. जी. गोपीना‍थन देंगे. अध्‍यक्षता विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो. गिरीश्‍वर मिश्र करेंगे.

संगोष्‍ठी का स्‍वागत वक्‍तव्‍य साहित्‍य अकादेमी के उपसचिव ब्रजेन्‍द्र त्रिपाठी करेंगे तथा आरंभिक वक्‍तव्‍य हिंदी परामर्श मंडल, साहित्‍य अकादेमी के संयोजक सूर्य प्रसाद दीक्षित देंगे. उदघाटन सत्र का संचालन अनुवाद एवं निर्वचन विद्यापीठ की प्रो. डॉ. अन्‍नपूर्णा सी. तथा धन्‍यवाद ज्ञापन डॉ. अनवर अहमद सिद्दीकी करेंगे.

संगोष्‍ठी के प्रथम सत्र का विषय ‘दक्षिण भारत की भाषाएं और हिंदी : साहित्यिक अनुवाद : परिचय’ पर होगा. सत्र की अध्‍यक्षता वी. डी. कृष्‍णन नंपियार करेंगे. कन्‍नड के सिद्धलिंग पट्टनशेट्टी, मल्ल्यालम के अच्‍युतन, तमिल की पद्मावती, तेलुगु के जे. एल. रेड्डी तथा विवि के राम प्रकाश यादव अपना आलेख प्रस्‍तुत करेंगे. संचालन अनुवाद एवं निर्वाचन विद्यापीठ के प्रो. डॉ अनवर अहमद सिद्दीकी करेंगे. 04 नवंबर को ‘दक्षिण भारत की भाषाएं और हिंदी : अनुवाद का व्‍यतिरेकी एवं तुलनात्‍मक पक्ष’ पर विमर्श होगा. सत्र की अध्‍यक्षता कृष्‍ण कुमार गोस्‍वामी करेंगे. कन्‍नड की सुनीता मजल बैल, मल्यालम के मु. कुन्‍जमेत्‍तर, तमिल की नागलक्ष्‍मी, तेलुगु के सर्राजु तथा विवि के गोपाल राम आलेख प्रस्‍तुत करेंगे. सत्र का संचालन राम प्रकाश यादव करेंगे. 4 नवंबर को 2.30 बजे ‘साहित्यिक अनुवाद : दक्षिण भारत की भाषाएँ और हिंदी : स्थिति’ विषय पर आयोजित सत्र की अध्‍यक्षता बालशौरि रेड्डी करेंगे. कन्‍नड की ललिताम्‍बा वी. वै, मल्यालम के सुधांशु चतुर्वेदी, तमिल के एच. बालसुब्रह्मण्‍यम, तेलुगु के चंद्रशेखर रेड्डी तथा विवि की हरप्रीत कौर आलेख प्रस्‍तुत करेंगे. सत्र का संचालन प्रो. अन्‍नपूर्णा सी करेंगी.

05 नवंबर को 10.30 बजे ‘साहित्यिक अनुवाद : दक्षिण भारत की भाषाएं और हिंदी : चुनौतियां’ विषय पर वै. वेंकटरमण की अध्‍यक्षता में आयोजित सत्र में कन्‍नड के भालचंद्र जयशेट्टी, मल्यालम के मोहनन वी.टी.वी., तमिल के शौरिराजन, तेलुगु की डॉ. सुमनलता तथा विवि के डॉ. अनवर अहमद सिद्दीकी अपना आलेख प्रस्‍तुत करेंगे. सत्र का संचालन गोपाल राम करेंगे. 2.30 बजे ‘साहित्यिक अनुवाद : दक्षिण भारत की भाषाएँ और हिंदी : मूल्‍यांकन’ विषय पर चर्चा होगी. सत्र की अध्‍यक्षता  तेजस्‍वी कट्टीमणि करेंगे. कन्‍नड के टी. आर. भट्ट, मल्यालम की तंकमणि अम्‍मा, तमिल के अलमेलु कृष्‍णन तथा तेलुगु के टी. मोहनसिंह आलेख प्रस्‍तुत करेंगे. सत्र का संचालन विवि की हरप्रीत कौर करेंगी.

इस राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का समापन 05 नवंबर को सायं 5.00 बजे विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो. गिरीश्‍वर मिश्र की उपस्थिति में होगा. समापन समारोह मेंमुख्‍य अतिथि के रूप में एन. सुंदरम उपस्थित रहेंगे. समापन व्‍याख्‍यान प्रभाशंकर प्रेमी देंगे. प्रतिवेदन प्रस्‍तुति डॉ. अनवर अहमद सिद्दीकी करेंगे. धन्‍यवाद ज्ञापन प्रो. डॉ. अन्‍नपूर्णा सी करेंगी.

gandhi

Representational pic