Published On : Thu, Jan 11th, 2018

नाना पटोले नॉन परफॉर्मर,उन्हें पद की लालसा थी, नहीं मिला तो चले गए – गिरीश व्यास


नागपुर:  भंडारा-गोंदिया से पूर्व सांसद नाना पटोले की घर वापसी हो गई है। अपनी ही पूर्व पार्टी बीजेपी के ख़िलाफ़ बगावती रुख अख्तियार करने वाले नाना ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के हाँथो गुलदस्ता लेकर पार्टी में प्रवेश किया। उनके प्रवेश के बाद बीजेपी ने उन्हें नॉन परफॉर्मर बताया है। पार्टी प्रवक्ता और विधान परिषद सदस्य गिरीश व्यास के अनुसार इतने वर्षो के जनप्रतिनधि के रूप में उनका कार्यकाल कोरा कागज़ है। पार्टी छोड़ना और दूसरी पार्टी में जाना उनका नैतिक अधिकार है लेकिन उन्हें मिले सांसद के अधिकार को वह भुना नहीं पाए। महज जाति की राजनीति और पद की लालसा मन में पालने वाले पटोले मिले मौके को गवां बैठे।

जिस इलाके के वह सांसद थे वह इलाका धान के व्यापर के लिए प्रसिद्ध है वह चाहते तो गाँव से लेकर देश में सत्ता में बैठी पार्टी के माध्यम से क्या कुछ नहीं कर सकते थे। लेकिन उन्होंने सिर्फ अपना निजी फ़ायदा सोचा। राज्य के इतिहास में पहले बार कोई मुख्यमंत्री गोंदिया पहुँचा। लेकिन उसकी पहल भी उन्होंने नहीं की। गोदिया के धान कारोबार से देश को अवगत कराने के लिए आयोजित प्रदर्शनी में मै मुख्यमंत्री को वहाँ लेकर गया। इतने वर्षो के राजनीतिक जीवन में उनकी उपलब्धि शून्य है वह मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ने की हुंकार भरते है पर वह बीजेपी के किसी सामान्य कार्यकर्त्ता के खिलाफ तो चुनाव जीत ले।

दूसरी तरफ नाना पटोले की घर वापसी से कांग्रेस में उत्साह का माहौल है। मूलतः कांग्रेसी पटोले की वापसी ऐसे समय में हुई है जब विदर्भ में कांगेस अपना पुराना जनाधार खो चुकी है। ऐसे में नाना की वापसी नया जोश भर रही है। नाना फ़िलहाल दिल्ली में है लेकिन उनके विदर्भ आगमन पर भव्य स्वागत की तैयारी शुरू है। पार्टी प्रवक्ता अतुल लोंडे के अनुसार नाना जैसे नेता,जो किसानो,गरीबों के हक़ की बात करते है उनका प्रतिनिधित्व करते है यह दर्शाता है की जनता में कांग्रेस के प्रति विश्वाश बढ़ा है। बीजेपी ने महज़ चुनाव प्रचार में झूठे आश्वाशन देकर जनता को गुमराह किया है। यह बात साफ हो चुकी है इसलिए सामान्य जनता का कांग्रेस में विश्वाश बढ़ा है। 5-10 औद्योगिक घरानो के लिए बीजेपी ने देश की जनता की सहूलतों और अधिकारों का दोहन किया जो अब भी जारी है। नाना की वापसी जनता के बीच कांग्रेस की ताकत को बढ़ाने का काम करेगी।