Published On : Wed, Apr 4th, 2018

बड़ी बहन के वियोग में छोटी बहन ने दी जान

नागपुर: एक दिल दहला देने वाली घटना में बड़ी बहन की मृत्यु सहन न कर पाने की वजह से छोटी बहन ने आत्महत्या कर ली। एक साल पहले आकांशा गुप्ता की बड़ी बहन की मौत हो चुकी है। अपनी जान से ज्यादा प्यारी बहन के जाने का वियोग न सहन कर पाने के चलते आकांशा ने भी मौत को गले लगा लिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आकांशा मानसिक रोग से ग्रस्त थी। उसकी जाँच करने वाले मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर ने बताया है कि आकांशा अक्सर कहती थी की उसकी बहन उसके सपने में आती है। बहन की आकस्मिक मृत्यु के चलते वह भारी निराशा के दौर से गुजर रही थी और इसी वजह से उसने आत्महत्या का क़दम उठाया। पुलिस फ़िलहाल इस मामले की जाँच कर रही है।

शहर के भीवसेनखोरी परिसर में रहने वाली आकांशा ने बीते महीने की 27 तारीख को रात के वक्त खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली थी। लगभग 80 फ़ीसदी जल चुकी आकांशा को ईलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहाँ जिंदगी की जंग लड़ते-लड़ते उसने दम तोड़ दिया। बीते एक वर्ष से आकांशा भारी अवसाद से जूझ रही थी। उसका बड़ी बहन से भावनात्मक जुड़ाव था। एक वर्ष पहले बड़ी बहन की दिल्ली में ईलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी। इसके बाद आकांशा की जिन्दगी भी बदल गई। उसने परिजनों और दोस्तों से घुलना मिलना बंद कर दिया।


बहरहाल पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दी है। आकांशा की मौत अंधश्रद्धा की वजह से तो नहीं हुई इस एंगल से भी जाँच कर रही है। वैसे मानसिक रोग विशेषज्ञ डिप्रेशन की वजह से आत्महत्या के लिए आकांशा के प्रवृत्त होने बात कह रहे है।