Published On : Fri, Dec 14th, 2018

पेट-1 में आवेदन करने की मियाद बढ़ाए यूनिवर्सिटी, साथ ही केवल ऑनलाइन फॉर्म को ही करें स्वीकार

नागपुर: नागपुर यूनिवर्सिटी की ओर से पीएचडी और एम.फील के लिए पेट (पीएचडी एंट्रेंस टेस्ट ) 1 और पेट 2 प्रवेश परीक्षा ली जा रही है. पेट एक परीक्षा पास होने के बाद ही विद्यार्थि पेट दो कि परीक्षा दे सकते हैं. इसके बाद ही विद्यार्थियों को पीएचडी के लिए अनुमति मिलेगी.

लेकिन पेट एक की परीक्षा के लिए यूनिवर्सिटी की ओर से 7 दिसंबर से 13 दिसंबर तक आवेदन मंगाए गए थे. लेकिन यह मियाद काफी नहीं है, जिसके कारण एबीवीपी की ओर से कुलगुरु को निवेदन देकर 5 दिन की मोहलत बढ़ाने की मांग की गई है. इस दौरान एबीवीपी के महानगर मंत्री वैभव बावनकर ने बताया कि नागपुर यूनिवर्सिटी का विस्तार काफी बड़ा है. इसमें ग्रामीण भाग के विद्यार्थी भी शामिल हैं.

विद्यार्थियों को ऑनलाइन आवेदन भरने के बाद भी डाक्यूमेंट्स यूनिवर्सिटी में जमा करवाने होंगे. यह प्रक्रिया काफी परेशान करनेवाली है.


इस प्रक्रिया के कारण अनेक विद्यार्थी इस परीक्षा से वंचित रह सकते हैं. उन्होंने मांग की है कि पेट 1 के आवेदन की तारीख को पांच दिन और बढ़ाया जाए साथ ही इसके केवल ऑनलाइन आवेदन सब्मिट करने की ही अनुमति दी जाए साथ ही डाक्यूमेंट्स जमा करवाने की प्रक्रिया बंद की जाए. इस दौरान सहमंत्री करण खंडाले और पश्चिम भाग के मंत्री शुभम मोदनकर मौजूद थे.