Published On : Tue, Aug 8th, 2017

नागपुर विश्वविद्यालय को 20 प्रतिशत सीटे बढ़ाने के लिए 130 कॉलेजो ने भेजे प्रस्ताव

Nagpur University
नागपुर: 
राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय से स्लंग्नित महाविद्यालयों में प्रवेश से वंचित महाविद्यालयों को दिलासा दिलाने के लिए राज्यपाल ने 20 प्रतिशत जगह बढ़ाकर देने के अधिकार कुलगुरु को दिए हैं. 5 अगस्त तक सभी कॉलेजों को नागपुर विश्वविद्यालय ने 20 प्रतिशत सीटों के लिए प्रस्ताव मंगाया था. जिसके अनुसार 5 अगस्त तक लगभग 130 कॉलेजो के प्रस्ताव नागपुर विश्वविद्यालय के पास पहुंचे हैं.

राज्य माध्यमिक शिक्षा मंडल पिछले कुछ वर्षों में 12वीं के रिजल्ट काफी अच्छे दे रहा है. विज्ञान व कॉमर्स लेनेवाले विद्यार्थियों की तादाद इनमें ज्यादा है. 12वीं का रिजल्ट लगने के बाद अनेक कॉलेजों में एडमिशन फुल होने की जानकारी दी जाती है. पिछले वर्ष विश्वविद्यालय कानून 1994 के तहत कुलगुरु को 10 से 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाकार देने का अधिकार दिया गया था.

जिसके अनुसार महाविद्यालयों को जरूरत के अनुसार दस से बीस प्रतिशत सीटें बढ़ाकर देने से विद्यार्थियों का प्रवेश कॉलेज में संभव हो पा रहा था. लेकिन इस वर्ष 2016 के विश्वविद्यालय कानून के अंतर्गत कुलगुरु का यह अधिकार समाप्त कर दिया गया है. इस फैसले का विरोध कई विद्यार्थी संगठनों ने किया था. जिसके बाद विश्वविद्यालय के कुलगुरु डॉ. सिध्दार्थविनायक काणे ने 24 जुलाई को राज्यपाल को पत्र लिखकर यह मांग की थी कि सीटों में बढ़ोत्तरी की जाए. साथ ही पुराने ही नियम को शुरू रखा जाए. जिसके बाद राज्यपाल कार्यालय द्वारा राज्य के सभी विश्वविद्यालयों (कृषि को छोड़कर ) को महाविद्यालयों में 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाने के अधिकार कुलगुरु को दिए हैं. 130 कॉलेजों ने सीटें बढ़ाने के लिए 5 अगस्त तक नागपुर विश्वविद्यालय में प्रस्ताव भेजा है.