Published On : Thu, Nov 23rd, 2017

एक ही बड़े श्रद्धांजलि कार्यक्रम से निकला ट्रैफिक विभाग का दम


नागपुर: नागपुर शहर में आदिवासी गोवारी समाज सेवा द्वारा 23 नवंबर 1994 को हुए शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए शहर के मॉरेस कॉलेज चौक स्थित गोवारी स्मारक पर हजारों की तादाद में आदिवासी गोवारी समाज के लोग इक्कठा हुए. इनकी संख्या ज्यादा होने की वजह से एक बार फिर शहर के ट्रैफिक व्यवस्था की पोल खुल गई. संविधान चौक से लेकर वैरायटी चौक तक, साथ ही इसके सविधान चौक से लेकर यूनिवर्सिटी रोड पर यातायात पुलिस की ओर से बरिकेड्स लगाकर रखे गए थे. जिसके कारण बर्डी से रविनगर, रेलवे स्टेशन से कस्तूरचंद पार्क, सिविल लाइन, सदर, लोहापुल सभी जगहों पर घंटो ट्रैफिक जाम लगा रहा.

इस मोर्चे में शामिल लोगों के लिए मार्ग देने के लिए पुलिस यातायात विभाग की ओर से काफ़ी देर आवागमन रोक कर रखा गया. जिससे यातायात की समस्या और ज्यादा गंभीर हो गई. अगर यातायात सुबह से ही परिवर्तित मार्ग से करने की व्यवस्था की गई होती तो शायद यह नौबत नहीं आती. ट्रैफिक में फंसे वाहनचालकों ने बताया कि संविधान चौक से बर्डी पहुंचने पर एक घंटे का समय लग गया. जबकि बर्डी से लेकर रविनगर तक वाहनों की लाइन लगी हुई थी.


इस बारे में ट्रैफिक विभाग के इंचार्ज डीसीपी रवींद्र सिंह परदेसी ने बताया कि मोर्चा बड़ा था और आदिवासी गोवारी समाज के लोगों की रैली भी थी. उम्मीद से ज्यादा लोगों की भीड़ इस दौरान थी. जिसके कारण ट्रैफिक जाम हो गया. शहर में बड़े पैमाने पर मेट्रो और सीमेंट की सड़कों का निर्माण कार्य शुरू है. जिसके कारण भी समस्या हुई है. ट्रैफिक विभाग की ओर से यातायात को सरल करने के लिए उपाय किए गए थे. नागरिकों के साथ ही ट्रैफिक पुलिस को भी ट्रैफिक व्यवस्थित करने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

Advertisement





Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement