Published On : Tue, Sep 15th, 2020

अधिवक्ता धवड़ दंपत्ति का 779 दिनों के बाद भी सुराग नही लगा पायी नागपुर पुलिस

नागपुर- शहर के वरिष्ठ वकील भैय्यासाहेब धवड और उनकी पत्नी वनिता पिछले 779 दिनों से यानी दो साल एक महीना 19 दिनों से लापता है. लेकिन अभी शहर पुलिस उनका पता नही लगा पायी है. उस दौरान अजनी पुलिस ने विभिन्न पद्धति से जांच की थी, इसके बाद क्राइम ब्रांच भी इसकी जांच कर रही थी. इसमे खास बात यह थी कि भैया साहेब और उनकी पत्नी वनिता जब घर से निकली थी तो उन्होंने जो कपड़े पहने थे ,वही उनके साथ थे, इसके अलावा पहचान पत्र,एटीएम कार्ड, बैंक पासबुक,कपड़े, यहाँ तक कि चश्मे और दवाईयां भी घर मे ही रखकर ,यह दंपत्ति चले गए थे.

Advertisement

भैय्यासाहेब धवड और उनकी पत्नी 29 जुलाई 2018 से लापता है. अजनी पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आनेवाले वंजारीनगर परिसर के लक्ष्मीप्रयाग अपार्टमेंट में 14 साल से रहनेवाले धवड दंपत्ति के साथ सभी पड़ोसियों के अच्छे संबंध थे. 29 जुलाई शाम तक वो सभी को दिखाई दिए, लेकिन रात में किसी को बिना बताए ,वो कही चले गए. इस घटना के दौरान उनका इकलौता बेटा मृणाल जो वाशिम में बैंक में नौकरी करता है, वो घर मे ही था, पहले एक दो दिन पड़ोसियों को कुछ पता ही नही था, लेकिन जब पुलिस आयी तब पड़ोसियों को दंपत्ति के बारे में जानकारी हुई.

Advertisement

इसके बाद पुलिस ने धवड परिवार के रिश्तेदारों की मौजूदगी में घर की जांच की. तब उनकी सभी चीजें घर मे ही रखी थी. यह तक कि भैयासाहेब जो चश्मा लगाते थे, वो भी घर पर ही रखा था. पुलिस ने इस मामले में काफी जांच और खोजबीन की, दूसरे राज्यों की पुलिस को भी इस मामले की जानकारी दी गई. लेकिन धवड दंपत्ति का पता नही चल सका. लेकिन बेटे की शादी के बाद धवड दंपत्ति तनाव में थे, ऐसी जानकारी पुलिस जांच में सामने आयी है.

Advertisement

इस दौरान पुलिस ने नागरिकों से भी अपील की थी, फ़ोन करने के लिए अजनी पुलिस ने अपना लैंडलाइन नंबर भी दिया था. इस घटना की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए अजनी पुलिस जांच की दिशा भी बदल दी. सूत्रों के अनुसार दंपत्ति के साथ घात होने की घटना को भी नकारा नही जा सकता.

क्योंकि अजनी पुलिस को अभी तक इसका कोई भी सुराग नही मिल पाया है. उस दौरान नागपुर जिला वकील संघटन ने तत्कालीन पुलिस आयुक्त को इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को देने की मांग की थी. इसके बाद इसकी जांच समांतर तरीके से क्राइम ब्रांच को भी दी गई थी. परिसर में सीसीटीवी कैमरे नही होने से दंपत्ति किस तरफ गए , यह भी क्राइम ब्रांच को पता नही चल पाया. क्राइम ब्रांच को भी इसका पता लगाना अब आव्हान जैसे साबित हो रहा है. अभी फिलहाल यह मामला अजनी पुलिस स्टेशन में धूल खा रहा है. इस मामले में वर्तमान पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने कहा कि इस मामले को पूरी तरीक़े से जानने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी.

By Ravikant kamble

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement