Published On : Sat, Sep 22nd, 2018

अजनी कालोनी की गंदगी से निपटने मंडल रेल प्रशासन ने कसी कमर

नागपुर: अजनी रेलवे कालोनी की नारकीय स्थिति सामने आने के बाद मध्य रेल नागपुर मंडल प्रशासन तुरंत काम पर लग गया और कालोनी में भी स्वच्छता की झाडू लग गया. कालोनी में जहां सीवेज लाइन की जांच की जा रही है, वहीं खुले मेन होल को बंद किया जा रहा है. इसके अलावा पूरे परिसर की साफ-सफाई का काम तेज कर दिया गया है. उल्लेखनीय है कि रेल मंत्रालय द्वारा स्वच्छता ही सेवा अभियान नागपुर रेल मंडल में भी जोर-शोर से चलाया जा रहा है. इसके तहत स्टेशन परिसर और ट्रेनों में स्वच्छता पर जोर दिया जा रहा है और पूरे 15 दिनों के लिए कार्यक्रम तय किया गया है. लेकिन इस बीच अजनी रेलवे कालोनी की ओर किसी का ध्यान नहीं गया, जहां हर तरफ गंदगी पैर पसार कर बैठी है.

ठीक किए जा रहे शौचालयों के पाइप
अजनी कालोनी के खस्ताहाल क्वार्टरों में बने शौचालयों के हाल बेहाल हैं. इन शौचालयों से पानी निकासी के लिए लगे पाइप भी जगह-जगह लीकेज करते हैं. यह स्थिति सामने आने के बाद मंडल रेल प्रबंधक सोमेश कुमार द्वारा आनन-फानन में अजनी कालोनी की स्थिति बेहतर करने क निर्देश दिये गये. इसी के तहत शौचालयों के पाइपों की जांच से लेकर कूड़ा-कचरा आदि भी साफ करना शुरू कर दिया गया.

अंदर की स्थिति भी सुधरे
इसमें कोई दो राय नहीं कि गंदगी से पटी कालोनी की स्थिति सामने आने के बाद परिसर में सफाई शुरू कर दी गई और सीवेज लाइन को लेकर सावधानियां भी बरतनी शुरू कर दी गई, लेकिन क्वार्टरों के भीतर की स्थिति पर इतनी ही तेजी से काम करना जरूरी है.

करोड़ों रुपये के सुधार कार्य के बाद भी इन क्वार्टरों की स्थिति में बदलाव नहीं होता, तो यह शोचनीय स्थिति है कि आखिर करोड़ों रुपये खर्च कहां हो गये. खिड़की हैं तो कांच नहीं है, स्विच है तो वायर नहीं. कई क्वार्टरों में सीलन भरी दीवारों के अलावा छत पर लगी सीमेंट की परतें भी गिरने को आतुर हैं. ऐसे में किसी बड़ी दुर्घटना को टालने के लिए अभी से कालोनी के उचित रखरखाव पर गंभीरता से काम करना जरूरी है.