Published On : Sat, Jul 29th, 2017

मुंबई में नागपुर मनपा सरकार, जनता बेहाल


नागपुर:
बीजेपी सभी नगरसेवकों और पदाधिकारियों के तीन दिवसीय मुंबई दौरे पर विपक्ष ने हमला किया है विपक्ष के मुताबिक सत्ताधारी बीजेपी का मनपा को बेसहारा छोड़कर इस तरह जाना गलत है। मनपा में नेता प्रतिपक्ष तानाजी वनवे के के मुताबिक किसी जनप्रतिनधि की जितनी जिम्मेदारी पार्टी के प्रति होती है उससे अधिक जनता के लिए होती है उनका बीजेपी के नगरसेवकों का पार्टी के प्रशिक्षण कार्यकर्म में जाने पर कोई ऐतराज़ नहीं है लेकिन जनता को बेसहारा छोड़ सभी का एक साथ चला जाना गैर जिम्मेदाराना है। वही दूसरी तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक प्रफुल्ल गुढधे पाटिल ने सत्ताधारी दल के नगरसेवकों के इस रवैय्ये को जनतंत्र के विपरीत करार दिया है। उनका कहना है राजनीति में ट्रेनिंग के लिए जनता से बेहतर कोई जगह नहीं है पार्टी की अंतर्गत ट्रेनिंग से जनता की समस्या हल नहीं होने वाली आर्टिफिशियल ट्रेनिंग के बजाये जनता से बीच रहकर काम किया जाए। जनता इस दिनों परेशान है अपनी समस्या लेकर वह किसके पास जाए यह उसके सामने सवाल है।

वही दूसरी तरफ़ बीजेपी ने विपक्ष के जनता के समस्या के प्रति संजीदा न होने के आरोपों को नकार दिया है। बीजेपी नगरसेवक संजय बालपांडे ने फ़ोन पर हुई बातचीत में बताया की इस कर्यक्रम में उन्हें जनता से बेहतर संवाद और बेहतर काम करने के तरीकों की जानकारी दे रहे है। सामाजिक क्षेत्र में काम करना और बेहतर काम करने में फर्क होता है। यहाँ व्यक्तित्व विकास और अन्य कई तरह की जानकारी दी जा रही है। यहाँ मौजूद नगरसेवक सतत जनता और अधिकारियो के संपर्क में है यहाँ से भी फ़ोन के माध्यम से जनता की समस्याएं सुलझायी जा रही है।

इन दिनों नागपुर मनपा की सरकार मुंबई में है। महापौर सहित बीजेपी के सभी पदाधिकारी और नगरसेवक मुंबई के ठाणे में स्थित सुंदर प्रकृति वातावरण के बीच रामभाऊ म्हालगी प्रबोधन कर्यक्रम में भाग ले रहे है। शुक्रवार से शुरू यह कर्यक्रम रविवार तक चलेगा। शुक्रवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जबकि शनिवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने शहर के नगरसेवकों का मुंबई में मार्गदर्शन किया। इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में भाग लेना नगरसेवकों के लिए बंधनकारक था जिस वजह से इस वक्त 104 नगरसेवक मुंबई में उपस्थित है। पार्टी के जनप्रतिनधियों को राजनितिक क्षेत्र में कार्य करने के तरीके को समझाने के लिए हर वर्ष मुंबई में इस प्रशिक्षण कर्यक्रम का आयोजन होता है जिसका लाभ इस वर्ष शहर बीजेपी के नगरसेवक उठा रहे है।

Advertisement

सभी नगरसेवकों के मुंबई दौरे पर होने की वजह से हर दिन चहल पहल के भरे रहने वाले मनपा मुख्यालय में आज मायूसी रही। आम टूर पर किसी आधिकारिक दौरे पर किसी पदाधिकारी के जाने की वजह से वह अपनी जिम्मेदारी किसी अन्य पदाधिकारी को सौप कर जाता है। लेकिन सभी पदाधिकारियों के एक साथ जाने से मनपा कुछ दिनों के लिए बेसहारा हो गई है। वैसे तो नगरसेवकों के शहर से बाहर जाने के लिए किसी तरह की अधिकृत छुट्टी लेने की आवश्यकता होती नहीं है। पर छोटी मोटी नागरी समस्याओं को नगरसेवक शहर में रहकर आसानी से सुलझा लेते है। शुक्रवार ने प्रभाग के नगरसेवक उपलब्ध न हो पाने की वजह से जनता की समस्या बरक़रार है। खुशकिस्मत वो नागरिक जरूर है जिनके पास नगरसेवक का नंबर है। मनपा अधिकारी इस दौरे पर खुलकर को बात नहीं कर रहे है पर उन्होंने यह बताया की शहर की समस्याओं लेकर कुछ नगरसेवकों के फ़ोन उनके पास जरूर आये है।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement