Published On : Sat, Sep 1st, 2018

कम संसाधनों के साथ शनिवार को धार्मिक अतिक्रमनों पर कार्रवाई के लिए तैयार होगा मनपा

नागपुर. धार्मिक अतिक्रमण को लेकर हाईकोर्ट में चल रही सुनवाई के दौरान भले ही मनपा की ओर से सड़कों और फुटपाथों पर केवल 12 धार्मिक अतिक्रमण शेष होने की जानकारी देकर शुक्रवार को निकाले जाने का आश्वासन दिया गया हो, लेकिन सीमित संसाधनों के कारण शुक्रवार को कार्रवाई अधूरी रह गई. अब बचे धार्मिक अतिक्रमण का सफाया शनिवार को होने की जानकारी सूत्रों ने दी. शुक्रवार को मनपा की ओर से लकड़गंज जोन अंतर्गत 3 धार्मिक अतिक्रमणों का सफाया किया गया जिसमें सतनामी नगर में मां दुर्गा मंदिर, कापसे चौक पर स्थित शारदा माता मंदिर और पुराना बगड़गंज स्थित हनुमान मंदिर को हटाया गया. हाईकोर्ट में दिए गए आश्वासन के अनुसार मनपा प्रवर्तन विभाग की ओर से कारगर कार्रवाई करने के लिए टीमों को तो लगाया गया, लेकिन मंदिरों को निकालने के लिए काफी समय लगने के कारण कार्रवाई एक दिन बढ़ने की जानकारी विभाग की ओर से दी गई.

प्रन्यास ने भी निकाले 5 धार्मिक अतिक्रमण

एक ओर जहां मनपा की ओर से 3 धार्मिक अतिक्रमणों का सफाया किया गया, वहीं प्रन्यास की ओर से भी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 5 धार्मिक अतिक्रमणों को निकाला गया जिसमें उत्तर नागपुर में 4 तथा पूर्व नागपुर के एक धार्मिक स्थल के खिलाफ कार्रवाई की गयी. उत्तर नागपुर में पांचपावली फ्लाईओवर के नीचे बाबा ताजुद्दीन दरगाह, स्वामीनगर खाटिकपुरा स्थित शीतला माता मंदिर, जामदार वाडी बिनाकी स्थित नाग मंदिर और नवदुर्गा मंदिर, आनंदनगर बिनाकी स्थित नागोबा मंदिर का अतिक्रमण निकाला गया. इसी तरह पूर्व नागपुर स्थित वाठोड़ा के श्रीकृष्णनगर में महादेव मंदिर को हटाने की कार्रवाई की गई. कार्रवाई में कार्यकारी अभियंता राजेश मेघराजानी, विभागीय अधिकारी अनिल राठोड़, सुधीर राठोड़, हेमंत गाखरे, मनोहर पाटिल व पुलिस निरीक्षक दुबे और बंसोडे ने हिस्सा लिया.


विरोध के कारण भी हो रही परेशानी

विभाग की ओर से बताया गया कि धार्मिक अतिक्रमण हटाने के लिए मनपा की ओर से पुरजोर प्रयास तो किए जा रहे हैं, लेकिन कुछ स्थानों पर स्थानीय लोगों की ओर से कड़ा विरोध भी किया जा रहा है. हालांकि विरोध कर रहे स्थानीय निवासियों के समन्वय के लिए काफी जद्दोजहद करने के बाद कार्रवाई होने से इसी में काफी समय भी बर्बाद हो रहा है जिसके चलते निर्धारित प्लान के अनुसार कार्रवाई को अंजाम देने में परेशानी हो रही है