| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Oct 10th, 2018

    नंदनवन: 3 चोर ने चुराए 33 वाहन

    नागपुर: शहर में लगातार वाहन चोरी की वारदातें हो रही हैं. इसमें सबसे ज्यादा घटनाएं नंदनवन थाना क्षेत्र में हो रही थी. नंदनवन पुलिस लगातार चोरों के पीछे लगी हुई थी और आखिर 3 चोरों को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली. 1 पर पहले भी वाहन चोरी के मामले दर्ज है, जबकि अन्य 2 मैकेनिक है. बगैर लॉक की गाड़ियों को महज 3 मिनट में चोरी करना जानते हैं. लंबे समय बाद पुलिस को इतनी बड़ी कामयाबी मिली है. जोन 4 के डीसीपी नीलेश भरणे ने इसकी जानकारी दी. पकड़े गए आरोपियों में पडोलेनगर, नंदनवन निवासी शुभम महेंद्र मराठे (21), नीमखेड़ा, पारसिवनी निवासी अनिल अशोक ढोके (24) और गौसिया कालोनी, बड़ा ताजबाग निवासी साहिब उर्फ साहिल खान शाहिद खान (30) का समावेश है.

    3 मिनट में चोरी करने में माहिर
    भरणे ने बताया कि करीब 2 वर्षों से आरोपी चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहे थे. वाहन बेचकर अपनी अय्याशी पूरी कर रहे थे. दर्शन कालोनी निवासी अक्षय रामटेके की बाइक चोरी होने के बाद पुलिस लगातार जांच में जुटी हुई थी. इसी दौरान शुभम ने एक व्यक्ति से उस बाइक का सौदा किया. खरीदार को उस पर संदेह हुआ और पुलिस को जानकारी मिल गई. पुलिस ने तुरंत शुभम को गिरफ्तार कर बाइक के बारे में पूछा. उसने चोरी की होने की जानकारी दी. उसकी निशानदेही पर अन्य 2 को गिरफ्तार किया गया. अनिल के भाई का गैरेज है. शुभम भी गैरेज में काम करता था. इसीलिए दोनों गाड़ियों के इग्निशन के वायर डाइरेक्ट जोड़कर वाहन शुरू करना जानते थे. इसलिए आरोपी बगैर लॉक वाले वाहनों की निगरानी करते थे. मौका मिलते ही 3 मिनट में वाहन चोरी कर लिया जाता था. 6 गाड़ियां नीमखेड़ा में अनिल के घर के पीछे मिली.

    केवल 18 मामले हैं दर्ज
    6 गाड़ियां आरोपियों ने जीतू ठाकुर नामक दोस्त के पास बेचने के लिए रखी थी. जीतू की मौत होने के कारण इन वाहनों की विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है. अन्य वाहन आरोपियों ने अपने-अपने पास रखे थे. पुलिस ने आरोपियों से कुल 33 चोरी के वाहन जब्त किए हैं. 12 मामले नंदनवन, 2-2 मामले लकड़गंज व कलमना और 1 रायपुर से चोरी होने की पुष्टि हो गई है. अन्य वाहन कहां से और कब चोरी किए गए इसकी जानकारी ली जा रही है. आरोपियों को खुद याद नहीं है कि कौन सा वाहन कहां से चोरी किया गया है.

    न्यायालय ने उन्हें 2 दिन की पुलिस हिरासत में रखने के आदेश दिए हैं. कुल 14.70 लाख रुपये का माल पुलिस ने जब्त किया है. डीसीपी नीलेश भरणे, इंस्पेक्टर विनायक चव्हाण और सालुंके के मार्गदर्शन में एपीआई पंकज धाड़गे, पीएसआई थोरात, एस.डी. जायभाये, हेड कांस्टेबल सचिन, श्रीकांत, अमोल, भीमराव, दीपक, पंकज, प्रवीण बोरटे, अभय और रेणुका ने कार्रवाई को अंजाम दिया.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145