Published On : Fri, Sep 4th, 2020

नागपुर – भंडारा रोड “माथनी टोल प्लाजा” को युवक कांग्रेस ने किया बंद

Advertisement

अधिकारियों ने लिखित स्वरूप में दिया जब तक महामार्ग दुरुस्त नहीं होता, एक महीने तक यह टोल प्लाजा बंद रहेगा

नागपुर – भंडारा रोड राष्ट्रीय महामार्ग होने के बाद भी कई जगहों पर गड्ढे पड़ गए हैं और जिस टोल प्लाजा को इसके मरम्मत का कार्य दिया गया है वह सब कुछ भूल कर सिर्फ जनता से टोल की वसूली पर लगे हुए हैं

Advertisement

“टोल प्लाजा” जब टोल की वसूली कर रहे हैं तो उनकी यह जवाबदारी बनती है कि वह महामार्ग की देखभाल भी करें परंतु जब रास्तो की खराब हालत के लिए जवाब मांगा जाता है तो टोल प्लाजा के कर्मचारी बदतमीजी पर उतर आते हैं, जिससे कई सामान्य नागरिकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है

युवक कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष कुणाल राऊत ने दिनांक 16 अगस्त 2020 को “माथनी टोल प्लाजा” के संबंधित अधिकारियों को उनके अंतर्गत नागपुर – भंडारा महामार्ग में पड़े गड्ढों के बारे में सूचित किया था और तुरंत टोल वसूली बंद कर गड्ढों को ठीक करने की बात कही थी परंतु अभी तक महामार्ग में किसी भी प्रकार का दुरुस्ती करण नहीं किया गया है।

इससे यह साफ हो जाता है कि टोल प्लाजा के अधिकारियों को केवल पैसों से मतलब है जनता और उनकी परेशानियों से कुछ लेना-देना नहीं है। युवक कांग्रेस द्वारा बार-बार सूचना देने के बाद भी महामार्ग की दुर्दशा और खराब होते जा रही है, जिसके लिए महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस नेतृत्व में “माथनी टोल प्लाजा” को बंद किया गया और युवक कांग्रेस की तरफ से यह इशारा दिया गया जब तक महामार्ग में पड़े गड्ढों का काम नहीं होता तब तक टोल प्लाजा बंद ही रहेगा।

इस दौरान वहा पर भारी मात्रा में तैनात पुलिस बल और टोल के अधिकारियों के साथ युवक कांग्रेस का विवाद हुआ जिससे स्थिति काफी देर तक तनावपूर्ण रही बाद में युवक कांग्रेस की मांग को मानते हुए “माथनी टोल प्लाजा” अधिकारियों ने एक महीने के अंदर महामार्ग का काम और बीच में पड़े गड्ढों को ठीक करेंगे इस दौरान किसी भी प्रकार की टोल की वसूली नहीं की जाएंगी यह वहां पर मौजूद अधिकारियों ने लिखित रूप में युवक कांग्रेस को दिया।

इस आंदोलन में प्रदेश महासचिव अजीत सिंह, प्रदेश सचिव प्रणीत जांभुले, पीयूष वाकोड़ीकर, भंडारा जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष राकेश कारेमोरे,असद खान, सतीश पाली, शैलेश पडोले, एडवोकेट धम्मदीप रंगारी, विजय दुबे, प्रिया खंडारे, विष्णु रणदिवे, भूषण टेंभूरने, सचिन फाले, प्रकाश देशमुख, शाहीन मून, आनंद चिंचखेड़े, गौरी मोटघरे, शंकर राऊत, आकाश बोंद्रे, विनीत देशपांडे, पीयूष घाटोडे आदि ने प्रमुखता से भाग लिया।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement