Published On : Wed, May 16th, 2018

जिला परिषद के निलंबित 10 अधिकारी कर्मचारी बुधवार से कार्यमुक्त सर्विस रूल तोड़ने के आरोप में पाए गए थे दोषी

नागपुर: बिना इजाज़त विदेश घूमने गए जिला परिषद के 10 अधिकारी-कर्मचारी बुधवार से निलंबित हो गए। आतंरिक जाँच के बाद जिला परिषद प्रशासन ने इस कर्मचारियों को सर्विस रूल नियम को तोड़ने का दोषी पाते हुए मंगलवार को ही इनके निलंबन का ऑर्डर जारी किया था। बुधवार को ये ऑर्डर सम्बंधित कर्मचारियों के वरिष्ठ अधिकारियो को भेजा गया और आज ऑर्डर की कॉपी दोषी कर्मचरियों को सौंपी गई। अप्रैल के महीने में जिला परिषद के 22 अधिकारी कर्मचारी जिसमे दो चपरासी भी शामिल थे छुट्टी मानाने बैंकॉक गए थे।

इस दौरान उनके साथ जिला परिषद से सस्पेंड किया गया एक ठेकेदार भी था। मौज मस्ती की फोटो सोशल मीडिया में डाली गई जिसके बाद मामले ने टूल पकड़ा और आख़िरकार 22 में से 10 लोगों की नौकरी चली गई। दरअसल राज्य में सरकारी कर्मचारियों के काम को लेकर नियमावली है जिसका पालन करना हर कर्मचारी अधिकारी के लिए बंधनकारक है। नियम के मुताबिक कोई अधिकारी और कर्मचारी देश से बहार जाता है तो ऐसे हालत में उसे न सिर्फ लिखित आवेदन देना होता है बल्कि अपने वरिष्ठ ने इजाज़त लेनी होती है।

जिला परिषद के 22 कर्मचारी विदेश घूमने गए जिसमें से 12 ने नियम के अनुसार इजाज़त ली लेकिन अन्य ने ऐसा नहीं किया। मामले के टूल पकड़े जाने के बाद जिला परिषद सीईओ कादम्बनी बलकवडे ने मामले की आतंरिक जाँच के आदेश दिए जिसके बाद दोषी पाये जाने पर निलंबन की कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

Stay Updated : Download Our App
Advertise With Us