Published On : Tue, May 2nd, 2017

कोई भारतीय ही तोड़े मेरा रिकॉर्ड तो अच्छा लगेगा – विष्णु मनोहर

Vishnu Manohar
नागपुर:
 विष्णु मनोहर ने 53 घंटो तक लगातार बिना रुके 1 हजार व्यंजन बनाने का गिनिस वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया है. मंगलवार को तिलक पत्रकार भवन में आयोजित पत्र परिषद में विष्णु मनोहर और मैत्री परिवार संघ की ओर से पत्र परिषद का आयोजन किया गया था. जहां उन्होंने रिकॉर्ड से जुड़ी दिलचस्प बातें पत्रकारों से साझा कीं. मनोहर ने बताया कि उन्होंने दो बार गिनिस वर्ल्ड रिकॉर्ड को प्रोपोसल भेजा था. जिसमें उन्होंने 1200 डिशेस बनाने का प्रपोजल रखा था. इसमें से 200 डिशेस रद्द की गई और एक हजार डिशेस को ही मंजूरी मिली. उसके बाद मुंबई और पुणे में ट्रायल लिया गया और नागपुर में इस रिकॉर्ड की शुरुआत की गई. उन्होंने बताया कि इसके लिए उन्होंने बारह बारह घंटों तक प्रैक्टिस की है. डॉक्टर की सलाह भी वे लगातार लेते रहे हैं.

इस रिकॉर्ड के लिए 12 कैमरों को लगाया गया था. उन्होंने बताया कि इस रिकॉर्ड में पूरा करने के िलए आपको लगातार कुछ न कुछ करना पड़ता है. आपने जरा सा भी समय गंवाया तो उतना समय काट लिया जाता है. उन्होंने बताया कि सब्ज़िया और ग्रोसरी करीब 800 प्रकार की लगी और हर व्यंजन में 100 से 200 ग्राम रस्म इस्तेमाल की गई. आठ से दस दिनों में वे अपनी रिकॉर्ड की डॉक्यूमेंट्री गिनिस वर्ल्ड रिकॉर्ड को भेजेंगे और तीन महीने बाद सर्टिफिकेट उन्हें मिल जाएगा. अपने रिकॉर्ड के बारे में उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले एक मैकेनिकल इंजीनियरिंग करनेवाला उनके एक मित्र का बेटा उन्हें मिला था और उसने विष्णु से कहा कि आपसे मुझे प्रेरणा मिली है और मै परीक्षा खत्म होने के बाद आप के साथ रहकर आपका रिकॉर्ड तोडूंगा.

विष्णु मनोहर ने बताया कि उनका रिकॉर्ड कोई भारतीय ही तोड़े तो उन्हें अच्छा लगेगा. हालांकि उन्होंने यह भी कहा की जो उनका रिकॉर्ड तोड़ेगा उसके बाद वे फिर उस रिकॉर्ड तोड़ेंगे. इस पत्र परिषद में मैत्री परिवार के अध्यक्ष संजय मेंढे, विनोद देशमुख, राहुल पांडे, प्रदीप मैत्र प्रमुख रूप से मौजूद थे.