Published On : Fri, Oct 24th, 2014

कन्हान : जुए के विवाद में हत्या, 1 गंभीर

Kanhan murder case  (1)
कन्हान।
कन्हान क्षेत्र में वर्चस्व बनाने और जुए की कमाई में हिस्सेदारी को लेकर दिवाली की रात लाठी, तलवार से कुख्यात अपराधी को मौत के घाट उतार दिया गया. मृतक का भाई गंभीर रूप से घायल हो गया. इस दौरान गोली चलने की भी खबर है. हमलावरों ने पहली  बार तलवार और लाठियों से हत्या करने के इरादे से हमला किया और फरार हो गए. जब उन्हें अपराधी के जीवित होने का शक हुआ, तो उन्होंने अस्पताल ले जाते समय पुन: हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया.

दोबारा हमले में युवक का भाई भी गंभीर रूप से घायल हो गया. जख्मी का कामठी के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. मृतक का नाम मिट्ठू उर्फ शीतल गोपाल सिंह (30) है. घटना कामठी के इंदर कालरी 6 नंबर खदान के पास हुई. घायल का नाम सनी गोपाल सिंह (25) है. जिसका कामठी के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

Kanhan murder case  (2)
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मिट्ठू उर्फ शीतल सिंह भी आपराधिक प्रवृत्ति का था, जिस पर 2009 में हुए दोहरे हत्याकांड का आरोप था. निचली अदालत ने मिट्ठू को इस हत्याकांड का दोषी मानकर उम्रकैद की सजा सुनाई थी, किंतु बाद में उच्च न्यायालय ने उसे निर्दोष करार दिया था. तब से मिट्ठू खदान क्षेत्र में अपना वर्चस्व जमाने की कोशिश में था. उसकी कई लोगों से दुश्मनी थी. खदान क्षेत्र में दिवाली पर जुआ खेलने की परंपरा है. कुछ साल पूर्व तक खदान क्षेत्र में बड़े-बड़े मंडप लगाकर जुआ खेला जाता था, लेकिन अब घरों में अथवा छिपकर जुआ खेला जाता है. सूरज गोमेकर, शरद गोमेकर, अमर गोमेकर द्वारा खदान क्षेत्र में जुआ घर चलाने की जानकारी मिट्ठू को मिली थी. उसके बाद मिट्ठू ने गोमेकर बंधुओं से जुए की कमाई में आधे हिस्से की मांग की थी. गोमेकर बंधुओं का भी खदान क्षेत्र में अच्छा दबदबा है. उन्हें मिट्ठू द्वारा पैसे मांगने की बात रास नहीं आई.

सूत्रों के अनुसार दिवाली के एक दिन पूर्व गोमेकर बंधुओं ने मिट्ठू को पैसे देने के बहाने बुलाया था, लेकिन अनहोनी की आशंका से मिट्ठू वहां नहीं गया. दिवाली के दिन रात 10 से 11 बजे के बीच मिट्ठू की सूरज गोमेकर से गोमेकर के अड्डे के बाहर अनबन हो गई. विवाद बढऩे पर सूरज, शरद तथा अमर गोमेकर ने मिट्ठू पर लाठियों और तलवार से हमला कर दिया. उसी समय मिट्ठू पर गोली चलाने के भी समाचार हैं. मिट्ठू गंभीर रूप से घायल हो गया.

Kanhan murder case
उसके परिजन उसे कामठी के एक निजी अस्पताल ले जा रहे थे. इस बीच मिट्ठू की मौत हुई या नहीं, इस बात को लेकर गोमेकर बंधू आशंकित थे. उन्होंने अपने एक अन्य वाहन से मिट्ठू को ले जाने वाली कार का पीछा किया तथा कामठी के एक नर्सिंग होम के सामने कार को रोक कर मिट्ठू पर पुन: तलवार व अन्य धारदार हथियारों से हमला कर दिया, जिसमें मिट्ठू की मौत हो गई. इसमें मिट्ठू का भाई सनी गंभीर रूप से घालय हो गया. दोनों को कामठी के निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां मिट्ठू को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि सनी का इलाज जारी है.

घटना की जानकारी मिलते ही उपविभागीय पुलिस अधिकारी रमेश कंतेवार रात को ही कन्हान पहुंचे. मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने एसआरपी तथा क्यूआरटी का दल भी कन्हान बुलवा लिया. शुक्रवार को ग्रामीण पुलिस अधीक्षक डा. आरती सिंह कन्हान पहुंची तथा मामले की जानकारी ली. पुलिस अधीक्षक ने माना कि क्षेत्र में आपराधिक गतिविधियां बढ़ रही हैं. उन्होंने खदान क्षेत्र में बड़े पैमाने पर अवैध हथियारों का जखीरा होने की संभावना से इंकार नहीं किया तथा इसकी बरामदगी के लिए शीघ्र ही कदम उठाए जाने की जानकारी दी. थानेदार सुभाष माकोडे ने बताया कि हत्याकांड के सिलसिले में कामठी निवासी भुरू उर्फ संदीप द्वारका प्रसाद यादव गोराबाजार (30) के खिलाफ भादंवि की धारा 302, 307, 3/25, 4/25, आर्म एक्ट तथा 143, 147, 148, 149 के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया है. अन्य आरोपी सूरज गोमेकर, शरद गोमेकर, अमर गोमेकर, पिंटू एवं अन्य आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस दल नागपुर, मध्यप्रदेश रवाना किया गया है.
Kanhan murder case