Published On : Mon, Oct 23rd, 2017

मुन्ना यादव प्रकरण: पुलिस पर दवाब, चौबीस घंटे बाद भी कोई गिरफ्तार नहीं

नागपुर: मुन्ना यादव प्रकरण में पुलिस पर राजनीतिक दबाव बढ गया है। घटना के चौबीस घंटे बाद भी धंतोली पुलिस एक भी हमलावर को िगरफ्तार नहीं कर सकी है। जबकि हमले में एक ही परिवार के चार से पांच सदस्यों को जान से मारने का प्रयास किया गया था।

कामगार कल्याण महामंडल के अध्यक्ष आरोपी मुन्ना यादव, पार्षद पत्नी लक्ष्मी यादव, पुत्र करण यादव, अर्जुन यादव और मुन्ना यादव का भाई बाला यादव ने शनिवार की रात करीब नौ बजे अपने ही रिश्तेदार मंगल यादव के परिवार पर हमला बोल दिया था। हमले का कारण मुन्ना यादव के पुत्र करण व अर्जुन द्वारा मंगल के दरवाजे पर पटाखे फोड़ना था। इस बात को लेकर दोनों परिवार के लोगों में झड़प हो गई। इस झड़प में मुन्ना यादव के लोग मंगल यादव के परिवार पर भारी पड़ गए।

उन्होने मंगल यादव के परिवार के सदस्यों को जान से मारने का प्रयास किया, जिससे मंगल यादव सहित पापा यादव, गब्बर यादव, प्रदीप यादव और मंजू यादव गंभीर रुप से घायल हो गए। मंगल और प्रदीप की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती िकया गया है।

घटना के बाद पुलिस ने मुन्ना यादव और उसके परिवार के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज िकया है, लेकिन घटना के चौबीस घंटे बाद भी मुन्ना यादव परिवार के एक भी सदस्य को गिरफ्तारी नहीं कर सकी है।