Published On : Thu, Sep 30th, 2021

किसी प्रतियोगिता में पीछे नहीं रहेंगे मनपा के छात्र: महापौर

Advertisement

-मनपा स्कूलों के छात्रों को ई-टैबलेट वितरित

नागपुर: लॉकडाउन के चलते नागपुर महानगरपालिका पिछले डेढ़ साल से छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा दे रहा है। जो छात्र ऑनलाइन नहीं सीख सकते, उन्हें उनके घरों पर जाकर शिक्षक-शिक्षिका पढ़ा रहे हैं। नागपुर महानगरपालिका के स्कूल में प्रत्येक छात्र को ऑनलाइन शिक्षा का लाभ उठाने में सक्षम होना चाहिए। इस संबंध में छात्रों के टैब वितरित करने का रास्ता साफ हो गया है। आज छात्रों के हाथों में टैब देना खुशी की बात है।

Advertisement
Advertisement

नागपुर महानगरपालिका द्वारा छात्रों को प्रदान किए गए टैब निश्चित रूप से उन्हें नई तकनीकों से जोड़कर उनके क्षितिज को व्यापक बनाने में मददगार साबित होंगे। महापौर दयाशंकर तिवारी ने विश्वास जताया कि आने वाले समय में नागपुर महानगरपालिका के छात्र किसी भी प्रतियोगिता में पीछे नहीं रहेंगे।

बुधवार को मनपा के संजय नगर सेकेंडरी स्कूल व डॉ राममनोहर लोहिया माध्यमिक विद्यालय में दसवीं कक्षा के छात्रों को महापौर दयाशंकर तिवारी एवं शिक्षा समिति अध्यक्ष प्रोफ़ेसर दिलीप दिवे के हाथों ई-टैबलेट वितरित किए गए। इस अवसर पर महापौर तिवारी भाषण दे रहे थे।

इस अवसर पर खेल समिति सभापति प्रमोद तभाने, गांधीबाग ज़ोन सभापति श्रद्धा पाठक, शिक्षण समिति सदस्य संगीत गि-हे, प्रभाग 24 के नगरसेवक अनिल गेंडरे आदि मान्यवर उपस्थित थे।

आगे बोलते हुए, महापौर दयाशंकर तिवारी ने कहा कि नागपुर शहर के महानगरपालिका स्कूलों में कुल 1938 छात्रों को टैबलेट देने का निर्णय लिया गया है। इस साल छात्रों की संख्या बढ़ने के कारण करीब दो हज़ार छात्रों को ई-टैबलेट दिए जाएंगे। यह कार्य संजयनगर स्कूल से शुरू किया गया है और यहां 238 छात्रों को टैब बांटे गए हैं। इंटरनेट कनेक्टिविटी की कमी के कारण उनकी शिक्षा बाधित न हो, इस बात को मद्देनज़र रखते हुए नागपुर महानगरपालिका टैब के माध्यम से ऑनलाइन अध्ययन करने वाले छात्रों को इंटरनेट भी उपलब्ध कराएगा। छात्रों को टैबलेट का उपयोग करने के लिए निर्देशित किया जाएगा। टैबलेट में केवल शैक्षिक और नागपुर महानगरपालिका के बारे में सूचना देने वाले ऍप होंगे।

छात्रों के ध्यान को शिक्षा से भटकाकर दूसरी ओर ले जाने वाले कोई भी वेबसाइट या ऍप इस तब पर नहीं खोले जा सकेंगे। इस बात का विशेष ध्यान रखते हुए यह टॅबलेट बनाया गया है।

पिछले कई महीनों में, छात्रों को टैबलेट वितरित करने में कई प्रशासनिक बाधाएं आई थी। लेकिन शिक्षा समिति के अध्यक्ष दिलीप दिवे और शिक्षा अधिकारी प्रीति मिश्रीकोटकर द्वारा इस मुद्दे पर लगातार कार्य करने और इस समस्या से बाहर निकलने का रास्ता ढूंढने के लिए महापौर ने उन्हें बधाई दी है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement