Published On : Mon, Dec 12th, 2016

सावनेर के गोंडेगाव में एमटीडीसी शुरु करेगा ‘खान पर्यटन’

mtdc

नागपुर: एमटीडीसी पर्यटन के बिलकुल नए आयाम को छूने जा रहा है। कोयला खदान में अब पर्यटकों को सैर सपाटा और खनन कार्य को सीधे देखने का मजा मिल सकेगा। 16 दिसंबर को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हाथों पर्यटन मंत्री जय कुमार रावल, पर्यटन राज्य मंत्री मदन येरावार भी उपस्थित रहेंगे। यह जानकारी सोमवार को एमटीडीसी की महाप्रबंधक स्वाती काले ने पत्रपरिषद के दौरान दी। उन्होंने बताया कि

नैसर्गिक, धार्मिक, ऐतिहासिक स्मारक, साहसी क्रीडा, कृषि आदि पर्यटन के क्षेत्र से तो सभी परिचित हैं। लेकिन एमटीडीसी (महाराष्ट्र पर्यटन विकास महामंडल) अब ‘खान पर्यटन’ शुरू करने जा रहा है। नागपुर शहर के पास सावनेर के गोंडेगांव कोयला खदान में पर्यटन अब सैर सपाटा कर सकेंगे। डब्ल्यूसीएल(वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड) गोंडेगांव खदान में कोयला उत्खनन करता है। क्लोस्ड अर्थात जमीन के भीतर सुरंग बनाकर यहां कोयला निकाला जाता है। पर्यटकों को इस खान में जमीन के भीतर तकरीबन 200 से 300 मीटर जमीन के नीचे कोल माइन के टनलों को देखने का अवसर प्राप्त हो सकेगा।

बुधवार को खान बंद रहती है इसलिए बुधवार को इस पर्यटन का मजा नहीं मिल सकेगा। शेष सभी दिन कोल पर्यटन शुरू रहेगा। इस खान परिसर में ईको पार्क, खान पान आदि सुविधा भी उपलब्ध हो सकेगी। यह संकल्पा 6 माह के लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लांच की जा रही है। अगर प्रतिसाद अच्छा रहा तो आनेवाले समय में इसे बड़े पैमाने पर शुरू किया जाएगा। साथ ही अन्य जगह उपलब्ध खदानों में भी इसे शुरू करने पर विचार किया जाएगा। कोयला खदान के अलावा अन्य खनिज खदानों में भी इसे शुरू करने का विचार किया जा रहा है। इसके िलए फिलहाल एक 17 सीटर बस उपलब्ध कराई गई है। प्रत्येक व्यक्ति 650 रुपए किराया रखा गया है।