Published On : Sat, Nov 23rd, 2019

खासदार सांस्कृतिक महोत्सव में इस बार 2 हजार कलाकार लेंगे हिस्सा – केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

नागपुर– केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की अवधारणा से आयोजित खासदार सांस्कृतिक महोत्सव 29 नवंबर से लेकर 15 दिसंबर तक होगा. इस वर्ष के महोत्सव का यह तीसरा वर्ष है और पहली बार यह 17 दिनों के लिए आयोजित किया जा रहा है. नागपुर के विभिन्न क्षेत्रों में इस उत्सव का आयोजन होगा. यह जानकारी शनिवार 23 नवंबर को शहर में आयोजित पत्र परिषद् में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी.

इस दौरान उन्होंने कहा की इसका उद्घाटन विश्वविख्यात आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के द्वारा होगा. इसमें स्थानीय और राष्ट्रीय स्तर के 2000 कलाकार सहभागी होंगे तो वही शहर के करीब 800 कलाकारों का इसमें समावेश रहेगा. सांस्कृतिक महोत्सव का उद्घाटन 29 नवंबर को शाम 7 बजे ईश्वर देशमुख फिजिकल एजुकेशन कॉलेज के मैदान में होगा. उदघाटन के तुरंत बाद स्थानीय कलाकारों का सुर ताल संसद यह संगीतमय कार्यक्रम होगा. इस दौरान गडकरी के हाथों यू ट्यूब चैनल का भी उदघाटन किया गया. इस चैनल में सभी कार्यक्रम दिखाए जायेंगे. इस दौरान उन्होंने बताया की नागरिक टोल फ्री नंबर 8696448883 पर मिस कॉल देकर अपनी पासेस आरक्षित कर सकेंगे.

हर साल यह कोशिश रहती है की स्थानीय कलाकारों को भी मौका दिया जाए. 20 हजार स्क्वायर फीट के स्टेज पर 800 कलाकार नागपुर के सुर संगीत संसद जो होगी इसका सबसे बड़ा आकर्षण होगी. उन्होंने कहा की लोगों की शिकायत थी की एक ही जगह पर सभी कार्यक्रम होते है और उन्हें आने के लिए काफी तकलीफ होती है. इसलिए अलग अलग जगहों पर इसका आयोजन इस बार हो रहा है. अपने अपने क्षेत्र में अगर विधायक और नेता इस तरह का कार्यक्रम करते है तो उनका हम सहयोग करेंगे. साल भर छोटे मोटे कार्यक्रम भी समिति की ओर से किए जाते है.मेंबर ऑफ़ पार्लियामेंट बनने के बाद केवल इंफ्रास्ट्रक्चर, रास्ते, बिजली,पानी या खेलने के स्टेडियम तक सासंद का काम सीमीत नहीं है. वहां के शैक्षणिक, सांस्कृतिक और क्रीड़ा विषयक विकास के लिए भी उन्होंने योगदान देना चाहिए. उन्होंने बताया की 150 खेलने के मैदान पर काम शुरू है.

पॉलिटिक्स और क्रिकेट में कुछ भी संभव है
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है और राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है. इस पर गडकरी ने दोनों को बधाई दी. इसके बाद उन्होंने कहा की राज्यपाल के द्वारा दिए गए समय में वे निश्चित ही अपना बहुमत साबित करेंगे. दोनों के नेतृत्व में राज्य में स्थिर सरकार बनेगी. उन्होंने कहा की मैंने पहले ही कहा था की क्रिकेट और पॉलिटिक्स में कुछ भी संभव है.

विभिन्न कार्यक्रम :
29 नवंबर को आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के द्वारा उद्घाटन और ‘ सुर ताल संसद, 30 नवंबर को ललित दीक्षित,शान और साधना सरगम का लाइव कॉन्सर्ट, 1 दिसंबर सुरेश वाडकर और गायक मण्डली द्वारा ‘सुरमयी शाम ‘, 2 दिसंबर को पंजाबी गायक हंसराज हंस का लाइव कॉन्सर्ट,3 से 5 तक ‘ रणरागिनी ‘ रानी लक्ष्मीबाई पर भव्य महानाट्य, 6 दिसंबर को डॉ. भीमराव आंबेडकर ‘ शैलेश बागड़े की प्रस्तुति, 7 दिसंबर को तारक मेहता फेम शैलेश लोढ़ा,कवी मधुप पांडे,कवी जगदीश सोलंकी,कवी प्रवीण शुक्ल,और कवी दिनेश दिगराज की हास्य व्यंग्य कवि सम्मेलन, 8 दिसंबर ‘ मै लता ‘ -म्यूजिकल कॉन्सर्ट (प्रसिद्द गायक महालक्ष्मी अय्यर और नागपुर की सुवर्णा माटेगांवकर) , 9 दिसंबर ‘ मै लता ‘ -म्यूजिकल कॉन्सर्ट, 10 दिसंबर ‘ मै लता ‘ -म्यूजिकल कॉन्सर्ट, 11 दिसंबर आनंदवन भुवनी, 12 दिसंबर ‘महारथी कर्ण नाटक ‘ , 13 दिसंबर ‘ युगपुरुष स्वामी विवेकानंद ‘ 14 दिसंबर गौरी कपाल की लाइव कॉन्सर्ट और जावेद पाशा की ‘डांस ऑन व्हील्स ‘ 15 दिसंबर समापन और हेमामालिनी की ‘माँ गंगा ‘ नृत्य नाटिका. यह सभी कार्यक्रम अलग अलग मैदानों पर संपन्न होंगे.

इस दौरान विधायक अनिल सोले ने कहा की इस महोत्सव की शहर के लोग राह देखते है. पहली बार 17 दिनों का यह भव्य आयोजन होगा. इस बार नागपुर के नागरिकों की फरमाईश पर विभिन्न विधानसभा क्षेत्र में इसका आयोजन किया जाएगा.

इस पत्र परिषद् में पूर्व पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, महापौर संदीप जोशी, पूर्व महापौर नंदा जिचकार, गिरीश गांधी, पूर्व महापौर प्रवीण दटके, सांसद डॉ.विकास महात्मे, पूर्व विधायक सुधाकर देशमुख, विधायक मोहन मते, कृष्णा खोपड़े, विकास कुंभारे समेत भाजपा के सभी पदाधिकारी मौजूद थे.